जब रेप पीड़िता को मिली 10 कोड़ों की सजा

0
337

पिता और बेटी का रिश्ता बहुत खास होता है। एक लड़की के जीवन में उसके पिता की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण होती है। जब आप किसी लड़की से ये पूछते हैं कि वो अपने जीवनसाथी में क्या-क्या गुण पाना चाहती है तो वो केवल यही कहती है कि वो अपने जीवनसाथी में अपने पिता जैसे गुण देखना चाहती है, लेकिन अगर किसी बेटी के लिए उसके पिता ही उसके जीवन के सबसे बड़े दुश्मन बन जाएं तो क्या होगा। कुछ ऐसा ही हुआ है महाराष्ट्र के सतारा में, जहां एक पिता ने ही अपनी नाबालिग बेटी के साथ दुष्कर्म किया।

पिता-और-बेटी-का-रिश्ता-बहुत-खास-होता-है।-एक-लड़की-के-जीवनImage Source :http://media2.intoday.in/

बताया जा रहा है कि ये शख्स पिछले 4 महीने से अपनी बेटी के साथ रेप कर रहा था। गांव वालों को इस बात की खबर उस समय लगी जब लड़की प्रेगनेंट हो गई। इस घटना के बाद गांव की जाति पंचायत ने पिता को सजा सुना दी, लेकिन इस सजा के बारे में जान कर आप हैरान हो जाएंगे। पंचायत ने पिता के साथ-साथ बेटी को भी 10 कोड़े मारने की सजा सुना दी। बताया ये जा रहा है कि पंचायत ने पिता को तो रेप के आरोप में सजा दी है, लेकिन बेटी को इस कारण सजा सुनाई है कि वो इतने दिनों तक अपने साथ हो रहे इस दुर्व्यवहार को चुपचाप सहती रही। पंचायत का मानना है कि जब उसके साथ 4 महीनों से दुष्कर्म हो रहा था तो उसने इसका विरोध क्यों नहीं किया। जिसके कारण वो भी दोषी मानी जाएगी।

वैसे आपको बता दें कि अब ये मामला पुलिस के पास पहुंच चुका है। सूत्रों से पता चला है कि आरटीआई के एक कार्यकर्ता ने इस मामले को सबूतों के साथ पुलिस के पास पहुंचाया है। इतना ही नहीं पंचायत द्वारा की गई इस कार्रवाई की तस्वीरें भी पुलिस के सामने रखी हैं। जिसके बाद इस मामले ने बड़ा रूप ले लिया है और पुलिस ने भी इस मामले की जांच शुरू कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here