पथरी को इन आसान तरीकों से निकाल कर पाएं दर्द से मुक्ति

0
529

इन दिनों दूषित खानपान के कारण हमारे शरीर में कई बीमारियां उपजने लगती हैं। इनमें से एक है पथरी। वैसे तो यह बड़ी बीमारी नहीं है, परंतु किसी भी बीमारी को छोटा समझने की भूल न करें। इस बीमारी में व्यक्ति को असहनीय दर्द होता है। शरीर से पथरी को निकालने के लिए सर्जरी की जा सकती है, लेकिन इसके अलावा भी कई आसान तरीके मौजूद हैं। पत्थरचट्टा इस परेशानी में एक कारगर उपाय है। आयुर्वेद के अनुसार पत्थरचट्टे के पौधे से प्रोस्टेट ग्रंथि और किडनी स्टोन की समस्या से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है।

इस पौधे से एक पत्ते को लेकर मिट्टी में गाढ़ देने से वह आसानी से वहीं उग जाता है। इसका प्रयोग हर मौसम में किया जा सकता है। इससे किसी प्रकार का दुष्प्रभाव नहीं होता। आज हम आपको पथरी में कारगर इस उपाय को बता रहे हैं-

पथरी के लिए है रामबाण इलाज

अक्सर देखा जाता है कि हर दूसरे घर में किसी न किसी व्यक्ति को पथरी की समस्या है। पथरी की इस समस्या को दूर करने के लिए पत्थरचट्टा एक कारगर उपाय है। इससे पथरी आसानी से शरीर से बाहर आ जाती है। पुरुषों के प्रोस्टेट के साथ ही यह कडनी के विकारों को भी दूर करता है। इससे हर रोज दस से पंद्रह एमएम पथरी पेशाब के रास्ते आसानी से टूट टूटकर बाहर आ जाती है।

1Image Source: https://auraiya.files.wordpress.com/

ऐसे करें प्रयोग

पत्थरचट्टा के चार पांच पत्तों को पीसकर एक गिलास पानी के साथ रोजाना सुबह शाम सेवन करना चाहिए। इस तरीके को एक से दो महीनों तक आजमाएं। जूस बनाने के साथ ही इसके पकौड़े बनाकर भी सेवन किया जा सकता है। पत्थरचट्टे के पत्तों का सेवन स्वस्थ व्यक्ति भी कर सकता है क्योंकि इससे कई रोगों से बचा जा सकता है। वैसे भी इसका सेवन करने से शरीर पर किसी प्रकार का कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है।

सेवन करते समय इन बातों का रखें ख्याल

1 इसका सेवन करते समय ध्यान रखें कि किसी भी प्रकार के मादक पदार्थों से दूर रहें। चूना, तंबाकू और सुपारी के सेवन से बचें।
2 सप्ताह में हर रोज कम से कम एक पत्ते का सेवन जरूर करें और इसके पत्ते को सब्जी में डालकर भी खा सकते हैं।
3 बार-बार पथरी की समस्या जिसे होती है उस व्यक्ति को हर दूसरे दिन इसके करीब आधे पत्ते का सेवन करना चाहिए।
4 पत्थरचट्टा के पत्तों का सेवन करने के दौरान उन सब्जियों को ग्रहण करने से बचना चाहिये जिनसे पथरी होने की संभावना रहती है। खासकर टमाटर के बीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।

2Image Source: http://www.samaylive.com/

पथरी की समस्या को दूर करने के लिए इस उपाय का जिक्र हमारे आयुर्वेद ग्रंथ में भी मिलता है। यह पौधा आसानी से उपलब्ध हो जाता है। अगर आपको यह पौधा न मिले तो आप इसकी आयुर्वेदिक दवाई भी ले सकते हैं। इसका सेवन करते समय हर सप्ताह अपनी जांच करवाते रहना चाहिए। चार सप्ताह के अंदर भी कोई आराम न आने की स्थिति में अपने चिकित्सक की सलाह जरूर ले लेनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here