एलियंस की खोज में वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष में भेजा संदेश, जवाब आने में लगेंगे 25 साल

एलियंस

 

वैज्ञानिको द्वारा कई वर्षों से एलियंस की जा रही हैं हालांकि अभी तक इस क्षेत्र में कोई सकारात्मक रिजल्ट नहीं आया हैं पर इस पर लगातार कार्य चल रहें हैं। पर-ग्रहवासियों के बारे में आम लोगों की ही तरह वैज्ञानिकों में भी काफी दिलचस्पी हैं। आम जनता में पर-ग्रहवासियों के बारे में काफी किस्से कहानियां मिलती हैं। कभी-कभी इस प्रकार की खबरें सुनने को भी मिलती हैं जिनमें UFO को देखे जाने की बात सामने आती हैं।

इस प्रकार देखा जाए तो आज एलियंस के बारे में न सिर्फ आम लोग बल्कि वैज्ञानिक भी जानना चाहते हैं। हाल ही में इनके बारे में जानकारी लेने तथा उनसे संवाद करने के लिए वैज्ञानिकों ने पृथ्वी के पास के एक ग्रह पर संदेश भेजा हैं। यह संदेश काफी बड़ा हैं। ऐसा कहा जा रहा हैं कि यदि एलियंस का अस्तित्व वास्तव में हैं तो इस संदेश का जवाब कम से कम 25 वर्ष में आएगा।

एलियंसImage Source:

आपको बता दें कि वैज्ञानिकों द्वारा शुरू किये गए इस प्रोजेक्ट का नाम “सोनार कॉलिंग GJ273b” हैं तथा “सोनार ऑर्गनाइजेशन” इस प्रोजेक्ट को संचालित कर रहा हैं। द इंस्टिट्यूट ऑफ स्पेस स्टडीज ऑफ कैटलोनिया (IEEC) तथा METI इंटरनैशनल ने इस प्रोजेक्ट में अपनी भागीदारी की हैं। जानकारी के लिए बता दें कि वैज्ञानिकों ने इसी वर्ष 16, 17 और 18 अक्टूबर को नॉर्वे के EISCAT ऐंटेना से यह सन्देश भेजा था। ये सभी “एक्सोप्लेनेट GJ273बी” नामक ग्रह को भेजे गए हैं जो कि आकार में पृथ्वी से 2.9 गुना बड़े हैं।

यह ग्रह लुटयंस स्टार के पास स्थित हैं। बता दें कि लुटयंस स्टार की हमारी पृथ्वी से दूरी 25 हजार प्रकाश वर्ष हैं। इस हिसाब से देखा जाए तो वैज्ञानिकों द्वारा भेजा गया यह संदेश पर-ग्रहवासियों तक करीब 12 वर्ष बाद पहुंचेगा और वहां से यदि वह कोई जवाब देता हैं तो हम लोगों के पास आने में भी 12 वर्ष के लगभग समय लगेगा। इस हिसाब से करीब 25 वर्ष बाद हम एलियंस का संदेश सुन पाएंगे ।

To Top