वैज्ञानिकों ने ढूंढ निकाली है दूसरी धरती, यहां पर मिल सकता है पानी और एलियंस का अस्तित्व

वैज्ञानिकों

 

आज के समय में वैज्ञानिक पृथ्वी से अलग कोई ऐसा ग्रह सर्च करने में लगे हुए हैं जहां पृथ्वी जैसा ही जीवन हो। आपको बता दें कि इस प्रकार का एक ग्रह वैज्ञानिकों ने हाल ही में खोजा है। जिस ग्रह को वैज्ञानिकों ने हाल ही में खोजा है, वहां पृथ्वी के जैसा ही वातावरण है। आपको हम बता दें कि यह ग्रह भी हमारी पृथ्वी की तरह सूर्य की परिक्रमा करता है और यह पृथ्वी के जैसा ही है और यहां पर एलियंस भी हो सकते हैं। वैज्ञानिकों ने इस ग्रह को ‘प्रोक्सिमा बी’ नाम दिया है तथा इसके कक्ष को ‘प्रोक्सिमा सेंटौरी’ नाम दिया है। इस ग्रह के बारे में वैज्ञानिकों ने बताया है कि वहां पर पृथ्वी की तरह ही चट्टान तथा पानी का अस्तित्व है। वैज्ञानिकों की मानें तो इस ग्रह की चट्टानें पृथ्वी से काफी बड़ी हैं। वर्तमान में इस ग्रह पर जीवन को लेकर वैज्ञानिक काफी उत्साह से भरे हुए हैं।

वैज्ञानिकोंImage Source:

प्रोक्सिमा बी नामक इस ग्रह के बारे में वैज्ञानिकों का कहना है कि यह पृथ्वी से 4.25 प्रकाश वर्ष दूर है और इसके कक्ष का रंग लाल है। वैज्ञानिकों ने इस ग्रह के बारे में यह भी बताया है कि यह पृथ्वी से 1.3 गुना बढ़ा है। आपको हम बता दें कि इस नए ग्रह पर जीवन की संभावनाओं के बारे में 2013 में वैज्ञानिकों को पता लगा था। यह नया ग्रह तारों के सबसे करीब है। इसके तापमान के बारे में वैज्ञानिकों बताते हैं कि इस ग्रह पर -90 से 30 सेल्सियस के बीच तापमान हो सकता है। इस बात की भी पुष्टि होती हैं इस ग्रह पर कभी जीवन रहा होगा, पर तारों से निकलने वाली खतरनाक पराबैंगनी किरणों के कारण यहां के निवासियों के जीवन का अंत हो गया होगा। अब वैज्ञानिक इस बात को स्वीकारते हैं कि निकट भविष्य में प्रोक्सिमा बी ग्रह पर अंतरिक्ष यान भेजे जा सकते हैं, ताकि इसके बारे में सटीक जानकारी मिल सके। यह ग्रह अपनी कक्षा में 11.2 दिनों में चक्कर लगाता है। आपको हम बता दें कि वैज्ञानिकों ने कुछ समय पूर्व यह दावा किया था कि सौर मंडल के बाहर किसी ग्रह पर जीवन और एलियंस मौजूद हैं। इस परिकल्पना को विज्ञान ने अब सही साबित कर दिया है और प्रोक्सिमा बी नामक इस नए ग्रह पर वैज्ञानिक अब पानी के साथ एलियंस के अस्तित्व को भी स्वीकारने लगे है।

To Top