ISIS के आतंकियों को याद आई नानी, बुर्के में छुपकर भाग रहें आतंकी

0
586
ISIS

 

आईएसआईएस को दुनिया का सबसे खूंखार आतंकी संघठन माना जाता है, पर हाल ही में इसका एक और पहलू सामने आया है, जो इस संघठन के आतंरिक खोखलेपन को उजागर करता है। ISIS के नाम को आज सभी जानते ही हैं। काले झंडे वाले इस काले संघठन के आतंकी अब अपनी जान बचाने के लिए भी काले रंग का प्रयोग करते नजर आ रहें हैं। आपको हम बता दें कि ISIS के आतंकियों को अब उनका भविष्य नजर आ चुका है और वे जान चुके हैं कि आगे सिर्फ मौत है, जो कभी भी उनको अपने अगोश में ले सकती है। इसी कारण अब ISIS के महान लड़ाकू अब महिलाओं के काले बुर्के में छुपकर भागने की कवायद में लगे हैं।

ISISImage Source: 

एक पुरानी कहावत है कि “जब गीदड़ की मौत आती है तब वह शहर की ओर भागता है”, यह कहावत वर्तमान में ISIS के लड़ाकुओं के ऊपर सही बैठ रही है। बात सिर्फ इतनी भी नहीं है कि ये लोग सिर्फ भाग रहें हैं बल्कि ये लोग छुप-छुपकर भाग रहें हैं और वह भी महिलाओं के वस्त्रों में। इस प्रकार की अब तक कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं जिनमें ये आतंकी लोग महिलाओं के वस्त्रों में छुपकर भागते हुए दिखाई पड़े हैं। असल बात यह है कि मौसूल को इराकी सेना द्वारा ISIS से मुक्त कराने के बाद जब घेरा गया, तब से मौसूल के अंदर चूहों की तरह छुपे बैठे इन आतंकियों को मौत का डर भी घेरने लगा। अपने इसी डर को दूर करने के लिए इन आतंकियों ने महिलाओं के बुर्के और अन्य वस्त्रों को सहारा लेना शुरू कर दिया है, ताकी ये लोग किसी प्रकार से यहां से भाग कर इराकी सेना से अपनी जान बचा सकें।

ISISImage Source:

ISIS के आतंकी जिस शान से मौसूल में घुसे थे, अब इनको उतने ही बेआबरू होकर भागना पड़ रहा है। आलम यह है कि अपनी जान बचाने के लिए इन आतंकियों ने अपने गालों पर लाली लगा ली है, होठों पर लिपस्टिक लगा ली है और आई ब्रो तक बनवा ली है ताकि ये पूरी तरह से महिला की तरह दिखें। असल में मौसूल को आजाद कराने के बाद में इराकी प्रधानमंत्री ने शंका जताई थी कि वहां अभी भी कुछ आतंकी छुपे हुए हो सकते हैं, इसलिए सेना ने जब से अपना सर्च आपरेशन मौसूल में चलाया है, तब से यहां पर छुपे हुए आंतकी भागने के लिए नए-नए तरीके अपना रहें हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here