डियोड्रेंट भी ले सकता है आपकी जान

डियोड्रेंट का प्रयोग आजकल हर कोई करता है और इसी के चलते मार्केट में भी अलग-अलग तरह के और अलग-अगल सुगंध में कई सारे डियोड्रेंट मौजूद हैं। मार्केट इतने सारे डियोड्रेंट को देख कर हर कोई उनकी ओर अकर्षित हो जाता है और उन्हें खरीद लेता है। अक्सर लोग ये सोचते हैं कि डियोड्रेंट हमारे शरीर की दुर्गंध को कम करता है, लेकिन केवल ऐसा ही नहीं है। अगर आप इनका जरूरत से ज्यादा प्रयोग करते हैं तो ये आपके लिए हानिकार भी हो सकते हैं। एक शोध के अनुसार अगर आप हर रोज डियोड्रेंट का प्रयोग करते हैं तो ये आपके शरीर की बदबू को कम करने के स्थान पर उसे और अधिक बढ़ा भी सकते हैं। इतना ही नहीं यह आपकी त्वचा को भी नुकसान पहुंचा सकता है। आज हम आपको डियोड्रेंट से होने वाले कुछ ऐसी ही परेशानियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक होते हैं।

1. बैक्टीरिया को बढ़ाते हैं- इस शोध में साफ-साफ यह कहा गया है कि आप जब भी किसी भी प्रकार के खुशबूदार कॉस्मेटिक्स का इस्तेमाल करते हैं तो उनसे आपकी त्वचा में एक्टिनोबैक्टीरिया की संख्या में वृद्धि होने लगती है। जब एक्टिनोबैक्टीरिया की संख्या बढ़ती है तो आपके शरीर से दुर्गंध आने लगती है। एक्टिनोबैक्टीरिया को ही शरीर से आने वाली दुर्गंध का मुख्य कारण माना जाता है। इतना ही नहीं डियोड्रेंट को बनाते समय इसमें प्रयोग किये जाने वाले पदार्थों से किसी भी तरह से एक्टिनोबैक्टीरिया की संख्या कम नहीं होती, बल्कि वो केवल उन्हें दबाने का ही काम करते हैं।

1Image Source: http://organics.org/

2. त्वचा संबंधी परेशानियां- डियोड्रेंट को बनाने के लिए जिन पदार्थों का प्रयोग किया जाता है वो हमारी त्वचा के लिए उचित नहीं होते हैं। जिसके कारण हमारी त्वचा पर खुजली होने लगती है। जो धीरे-धीरे बढ़ कर आपके लिए परेशानी का कारण बनती है। कई सारे डियोड्रेंट को बनाने के लिए एल्युमिनियम का भी प्रयोग किया जाता है, जो कि हमारे स्वास्थ्य को खराब करने का काम करता है। इसमें कुछ केमिकल ऐसे भी प्रयोग होते हैं जो आपके लीवर को प्रभावित कर सकते हैं।

2Image Source: http://32c9ru3ax6ovlprw71otcy7s.wpengine.netdna-cdn.com/

3. अस्थमा की समस्या- इस बात को तो आप भी मानेंगे कि अगर आप डियोड्रेंट का जरूरत से ज्यादा प्रयोग करते हैं तो उससे आपकी नाक बंद हो जाती है। जिससे आपको सांस लेने में काफी समस्या होती है। अगर आप भी डियोड्रेंट का प्रयोग करते समय छींकते रहते हैं तो ये छीकें आपके लिए जुकाम का कारण बन सकती हैं, लेकिन अगर आपकी छीकें बन्द नहीं होती हैं और हर बार बढ़ती ही जा रही हैं तो यह अस्थमा का भी रूप ले सकती हैं।

3Image Source: http://windomallergy.com/

4. अल्जाइमर की समस्या- आपने अक्सर लोगों को यह कहते हुए सुना होगा कि उन्हे डियोड्रेंट से सिर में दर्द होने लगता है। हो सकता है कि उन्हें अल्जाइमर की समस्या हो। डियोड्रेंट का ज्यादा प्रयोग करने से अल्जाइमर हो सकता है। आपको बता दें कि अल्जाइमर एक ऐसी बीमारी है जो आपके दिमाग को प्रभावित करती है और इससे आपकी सोचने व समझने की क्षमता कम हो जाती है। इतना ही नहीं इससे आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी कम हो जाती है। जिससे आप बहुत जल्दी- जल्दी बीमार होने लगते हैं।

4Image Source: http://purplle.com/

5. ब्रेस्ट कैंसर की समस्या- हम जानते हैं कि शायद आप इस बात को नहीं मानेंगे कि डियोड्रेंट से आपको ब्रेस्ट कैंसर हो सकता है लेकिन यह सत्य है कि डियोड्रेंट के ज्यादा प्रोयग से ब्रेस्ट कैंसर होता है। आप जब इसे अपनी त्वचा पर प्रयोग करते हैं तो इसमें मौजूद एस्ट्रोजन नामक तत्व हमारी त्वचा के माध्यम से हमारे शरीर के अंदर प्रवेश कर लेता है। जिससे कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है।

Heart framing on woman chest with pink badge to support breast cImage Source: http://static1.squarespace.com/

6. टॉक्सिफिकेशन का प्रभावित होना- टॉक्सिफिकेशन की प्रक्रिया के बारे में तो आप जानते ही होंगे कि इससे हमारे शरीर के अन्दर मौजूद सारी गंदगी बाहर निकल जाती है और हमारा शरीर स्वस्थ हो जाता है। डियोड्रेंट हमारी त्वचा में मौजूद पोर्स को बन्द कर देता है। जिसके कारण हमारे शरीर में मौजूद गंदगी बाहर नहीं आ पाती है और हम बीमार होने लगते हैं।

5Image Source: https://bbhmarketsblog.files.wordpress.com/
To Top