_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/12/","Post":"http://wahgazab.com/know-about-the-amazing-bike-made-with-a-budget-of-13-thousand-and-runs-at-a-speed-of-650kmhr/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/know-about-the-amazing-bike-made-with-a-budget-of-13-thousand-and-runs-at-a-speed-of-650kmhr/know-about-the-amazing-bike-made-with-a-budget-of-13-thousand-and-runs-at-a-speed-cover/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

नरिसिम्हा स्वामी मंदिर – यहां भगवान के दर्शनों के लिए जमीन पर लेट जाती हैं महिलाएं

नरिसिम्हा स्वामी मंदिर

 

अपने देश में कई ऐसे मंदिर हैं जहां लोग अपने-अपने विश्वास के आधार पर कई प्रकार के अजीब कार्य करते नजर आते हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही मंदिर के बारे में जानकारी दे रहें हैं। धार्मिक स्थानों पर आज कई ऐसी परंपराएं देखी जाती है, जिनको आप महज अंधविश्वास ही कहेंगे। असल में ये सभी परंपराएं लोगों की ही बनाई हुई हैं। इसी कारण इन परंपराओं का कोई जिक्र किसी धार्मिक ग्रंथ में नहीं मिलता है। आज हम आपको जिस मंदिर के बारे में जानकारी दे रहें हैं उस मंदिर में भी एक इसी प्रकार की परंपरा काफी समय से चली आ रही है, जिसका कोई शास्त्रोक्त विधान नहीं मिलता है।

नरिसिम्हा स्वामी मंदिरImage Source:

आपको हम बता दें कि आंध्र प्रदेश एक अनंतपुर जिलें में “नरिसिम्हा स्वामी मंदिर” नामक एक धार्मिक स्थान है। यह नरिसिम्हा स्वामी मंदिर भगवान नरसिंह का मंदिर है जिनको पौराणिक मान्यताओं में भगवान विष्णु का ही अवतार बताया गया है। इस नरिसिम्हा स्वामी मंदिर में एक परंपरा के तहत सैकड़ों महिलाएं मंदिर के प्रांगण में लेट जाती हैं। इन सभी की मान्यता यह है कि भगवान नरसिंह इनके ऊपर चढ़कर ही मंदिर में प्रवेश करते हैं तथा इन सभी महिलाओं को पुत्र की प्राप्ति होती है यानि यह परंपरा पुत्र प्राप्ति के लिए निभाई जाती है। आपको बता दें कि इस मंदिर पर बहुत लोगों का विश्वास बना हुआ है और यहां पर इसी विश्वास के कारण सैकड़ों महिलाएं आती हैं। आपको हम यह भी बता दें कि यह मंदिर अनंतपुर जिले के बकतरापल्ली गांव में है। यहां के लोगों से यदि आप इस परंपरा के बारे में पूछते हैं, तो ये लोग बताते हैं कि इस परंपरा के कारण यहां पर बहुत से लोगों की मुरादें पूरी हुई हैं। अब सही क्या है और क्या नहीं, वह यहां जानें वाले लोग ही जानें पर असल बात यही है कि आज भी यहां सैकड़ों महिलाएं पुत्र प्राप्ति के लिए आती हैं।

Most Popular

To Top