इस गांव में नहीं निकलता था सूरज, तो गांव वालों ने खुद ही बना दिया अपना नया सूरज

दुनिया में बहुत सी जगह इस प्रकार की हैं जो घूमने-फिरने या अपनी अजीब मान्यताओं के कारण प्रसिद्ध हैं, पर आज हम आपको एक ऐसे स्थान के बारे में बता रहें हैं जहां सूरज ही नहीं उगता था, इसलिए अब वहां के लोगों ने खुद ही अपना सूरज बना लिया है। आइए जानते हैं इस स्थान के बारे में…

vigllena-village1Image Source:

सूरज न उगने वाला यह स्थान इटली का विगल्लेना गांव है। इस गावं की परेशानी यह थी कि यहां के लोग सूरज की रोशनी देखने तक लिए तरस जाते थे, क्योंकि इस गांव में सूरज उगता ही नहीं था। असल में इस गांव के पास स्थित पहाड़ सूरज को इस प्रकार से कवर कर लेते था की गांव तक सूरज की धूप कभी नहीं पंहुच पाती थी। यह गांव मिलान के उत्तरी भाग में 130 किमी नीचे बसा है और लंबे समय तक इस गांव के लोगों को सूरज के दर्शन तक नसीब नहीं हुए थे। इस गांव में लोगों की संख्या करीब 200 है और लोग मान चुके थे कि अब यहां कभी सूरज नहीं उग पाएगा लेकिन इस गांव के ही इंजीनियर तथा आर्किटेक्ट ने यहां के लोगों के मन में एक आस जगा दी कि अब जल्द ही सूरज उग जाएगा। विगल्लेना गांव के मेयर पेरफ्रांको मिदाली की सहायता से 1,00,000 यूको खर्च करके 40 वर्ग किलोमीटर शीशे को खरीदा गया और इसको पहाड़ के दूसरी ओर 1,100 किलोमीटर की ऊंचाई पर लगाया गया और यह शीश इस प्रकार से पहाड़ के ऊपर लगाया गया, जिससे सूरज की रोशनी शीशे पर सीधी पड़ें और वह गांव पर घूप बनकर गिरे। इस प्रकार से इस गांव के लोगों ने अपने लिए खुद ही नया सूरज बना लिया था।

To Top