_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/04/","Post":"http://wahgazab.com/bottles-of-water-are-being-used-to-save-this-seven-hundred-year-old-tree/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/bottles-of-water-are-being-used-to-save-this-seven-hundred-year-old-tree/glucose-2/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/0f66939619e6f091493652639d567514/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

4 महीने में एलियन की तरह दिखाई पड़ने लगा यह लड़का, जानें इसके बारे में

एलियन

 

एलियंस को लेकर अक्सर अलग अलग अफवाहे सुनने को मिलती रहती हैं। कई विज्ञानिक उनसे जुड़ी खोज में जुटे हुए हैं। इसी बीच एक चौकाने वाली खबर सामने आई हैं। जिसमें 4 महीने में एक लड़का एलियंस की तरह दिखाई पड़ने लगा हैं। जी हां, हालांकि यह एक आश्चर्यजनक खबर हैं पर यह एक सच्ची खबर हैं।

आपको बता दें कि समान्य लोगों की तरह जीवन बिता रहे इस लड़के का जीवन पिछले 4 महीने में कुछ ऐसा बदला कि लड़के की असल शक्ल की बिगड़ गई और अब वह एक एलियन के जैसा दिखाई देता हैं।

रहस्यमय बिमारी का हुआ शिकार –

मध्य प्रदेश में पड़ते सागर जिले के बाछलोन गांव में रहने वाले प्रभु अहिरवार के लड़के देवेंद्र का जीवन काफी विकृत हो चुका हैं। देवेंद्र की आयु अभी महज 13 वर्ष ही हैं। आपको बता दें कि जयपुर के एक अस्पताल में कुछ समय पहले देवेंद्र की नाक का आपरेशन हुआ था।

कुछ समय तक तो वह सही रहा पर उसके बाद उसकी नाक तथा माथे पर सूजन आ गई। यह सूजन दर्द के साथ आगे बढ़ने लगी जिसके बाद परिवार के लोग काफी परेशान हो गए। इस सूजन से देवेंद्र का चेहरा विकृत हो गया और वह किसी एलियन की तरह दिखाई पड़ने लगा।

अचानक आई इस सूजन से देवेंद्र की नाक तथा आंख के बीच का हिस्सा काफी ज्यादा उभर गया हैं तथा दोनों आँखों के बीच का गैप भी 5 इंच तक बढ़ गया हैं। इसी कारण देवेंद्र फिल्मों में दिखाई पड़ने वाले एलियंस के जैसा दिखाई देने लगा हैं।

एलियनImage Source:

क्या कहते हैं डॉक्टर –

जब देवेंद्र की तकलीफ ज्यादा बढ़ गई तो उसको बीएमसी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। वहां से देवेंद्र को भोपाल रेफर कर दिया गया। देवेंद्र का परिवार जयपुर में मजदूरी करता हैं और उसका आपरेशन भी जयपुर के एक सरकारी अस्पताल में ही हुआ था।

बीएमसी के कैंसर विभाग के डॉ. उमेश मिश्रा का कहना हैं कि “देवेंद्र के सीटी स्कैन सहित कई टेस्ट करने जरुरी हैं। प्राथमिक रूप में यह हीमेंजियोमा लग रहा हैं पर इस बारे में अभी कन्फर्म नहीं कहा जा सकता हैं। इसके अलावा कैंसर की आशंका भी लग रही है।” अब देखना यह हैं कि देवेंद्र को आखिर कब इस बिमारी से छुटकारा मिलेगा।

To Top