_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/04/","Post":"http://wahgazab.com/woman-trafficking-takes-place-here-which-costs-99-rupees/","Page":"http://wahgazab.com/addd/","Attachment":"http://wahgazab.com/?attachment_id=37006","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/28118/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=154","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

1 रूपए के नोट को छापने में आता है डेढ़ रूपए का खर्च, जानें इसके बारे में

आपने एक रूपए का नोट तो देखा ही होगा, भले ही वह अब बहुत कम देखने को मिलता हो, पर हम आपको इस एक रूपए के नोट से जुड़ा एक ऐसा तथ्य बताने जा रहें हैं, जिसके बारे में आप शायद नहीं जानते होंगे। जी हां, यह एक ऐसा तथ्य है जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं और यह तथ्य है एक रूपए के नोट की छपाई में आने वाला खर्च। असल में बहुत कम लोग ये जानते हैं कि एक रूपए के नोट को छापने में डेढ़ रूपए का खर्च आता है। यह जानकारी सरकार की ओर से सूचना के अधिकार (आरटीआई) कानून के तहत दी गई है और इसी के साथ में सरकार ने यह भी कहा है कि सरकार की ओर से पिछले दो सालों में एक रूपए के 16 करोड़ नोट जारी किए गए हैं।

1-rupaye-rupe
Image Source:

सरकार ने अपनी ओर से दी गई जानकारी में यह भी बताया कि पिछले दो दशकों से एक रूपए के नोट नहीं छापे जा रहें हैं, क्योंकि एक रूपए के नोट को छापने में उसकी कीमत से ज्यादा खर्च आ रहा था। सरकार के अनुसार एक रूपए का नोट छापने में उसको 1 रूपया 48 पैसे का खर्च आ रहा था, जिस कारण ही इसकी छपाई बंद कर दी गई है।

Most Popular

To Top