कलयुगी धरती पर मिले भगवान राम के वंशज

भगवान राम

रामजन्म-भूमि से जुड़ा मुद्दा अभी सुलझा भी नही है और उनके वंशज भारत की धरती में एक के बाद एक देखने को मिलने लगे हैं। जी हाँ, अभी हाल ही में जयपुर की पूर्व राजकुमारी दीया कुमारी ने दावा किया है कि वो भगवान राम की वंशज हैं जिस पर काफी बहस भी छिड़ी थी। यह मामला अभी शांत भी नही हुआ था कि अब राजस्थान का एक और राजघराना राम के वंशज होने का दावा ठोक रहा है।

lord rama with sons luv and kush

जयपुर के गुर्जर राजपूत गोत्र सत्येंद्र सिंह राघव ने अब भगवान राम का वंशज होने का दावा किया है। कांग्रेस प्रवक्ता एवं सरकार के वरिष्ठ अधिवक्ता राघव ने रविवार को दावा किया कि उनका परिवार भगवान राम के बड़े पुत्र लव का वंशज है।

उन्होनें इस बात का भी दावा किया है कि आज का अयोध्या लव के राज्य क्षेत्र में आता था। श्रीमद् वाल्मीकि रामायण का उल्लेख करते हुए राघव ने बताया कि लव का राज्य उत्तर कौशल था, जो आज का अयोध्या है। राघव ने अपनी बात रखते हुये कहा है कि भगवान राम के दूसरे पुत्र कुश, जिनके वंशज जयपुर के पूर्व राजघराना को बताया जाता है, को दक्षिण कौशल राज्य मिला था जो आज के समय का छत्तीसगढ़ है।

princess diya kumar claims she is related to lord rama

कांग्रेस प्रवक्ता राघव ने इस बात का भी दावा किया है कि वाल्मीकि रामायण की चौपाइयों में भी इसका उल्लेख किया गया है। याद रहे कि राज समंद से लोकसभा सांसद और पूर्व राजकुमारी दीया कुमारी ने अपने दावे के समर्थन में वंशावली प्रस्तुत की थी।

इन दो राजघरानों द्वारा किए गए दावे के बाद इस बात को नकारा नहीं जा सकता कि भगवान राम के और भी वंशज सामने आ सकते हैं। ग़ौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि अयोध्या के मामले की सुनवाई करते हुए यह पूछा था कि क्या राम का कोई वंशज है?

To Top