बाढ़ में सामने खड़ी मौत को देखकर घर की छत पर बैठ गया मगरमच्छ

बाढ़

देश के कई राज्य इन दिनों बाढ़ की चपेट में हैं।  बड़ी आबादी प्राकृतिक आपदा से जूझ रही है।उन्हीं में से एक है कर्नाटक का बेलगाम जिला। जो बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां के लोगों के जनजीवन पर इसका गहरा असर पड़ा है। पानी में घर डूब जाने के कारण लोग घर से बेघर हो चुके हैं। इसके प्रभाव से सिर्फ इंसान ही नही, जानवर यहां तक की पानी में रहने वाले जीव-जंतु भी परेशान होकर पानी से बचने के लिये बाहर निकलने को कोशिश कर रहे हैं। बेलगाम के ही रायबाग तालुक का एक विडियो इन दिनों काफी वायरल हो रहा है जिसमें पानी में डूबे घर की छत पर मगरमच्छ आराम से बैठा हुआ है जबकि घर के आसपास चारों ओर पानी का सैलाब नजर आ रहा है।

बाढ़

कर्नाटक का सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र बेलगाम

जनकारी के लिये बता दें, कि कर्नाटक में बाढ़ से सबसे ज्यादा प्रभावित जिला बेलगाम है जहाँ पर अभी 5 दिन तक और बारिश होने के आसार हैं। यहां रविवार को भी नौसेना वायु स्टेशन, आईएनएस हंसा द्वारा एरियल राहत और बचाव अभियान जारी रहा। रविवार को आईएनएस हंसा के नौसेना हेलिकॉप्टरों ने तीन दौरे किए जिसमें 26 फंसे हुए लोगों को बचाकर राहत शिविरों में ले जाया गया।

1 अगस्त से अब तक 40 मौतें

कर्नाटक में बारिश और बाढ़ के प्रभाव से अब तक 20 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 11 लापता हैं। कर्नाटक राज्य प्राकृतिक आपदा निगरानी केंद्र के अनुसार, बेलगाम जिले में अभी अगले 5 दिनों तक मध्यम गति से बारिश होने के आसार हैं। कर्नाटक में 5,81,702 लोगों को बचाया जा चुका है और 1168 राहत शिविर चलाए जा रहे हैं। बाढ़ के चलते कर्नाटक के 17 जिले के 2028 गांव प्रभावित हैं।

कर्नाटक में आई 45 साल में सबसे बड़ी आपदा

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कर्नाटक के बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लिया। बाढ़ के चलते कर्नाटक में 6,000 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान है। चीफ मिनिस्टर बीएस येदियुरप्पा ने इसे बीते 45 वर्षों में राज्य पर आई सबसे बड़ी प्राकृतिक आपदा करार दिया है।

To Top