_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/01/","Post":"http://wahgazab.com/cobra-hid-in-boots-people-got-frightened/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/?attachment_id=45050","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

दंतेश्वरी मंदिर हैं चूहों से परेशान, यहां की कीमती चीजों को चुरा ले जाते हैं चूहे

People in Danteshwari temple are sick of Rats that are stealing people’s belongings cover

वैसे तो आमतौर पर चोरी करने की प्रवृति इंसानो में ही होती हैं। मगर हम आपको एक ऐसे स्थान के बारे में जानकारी दे रहें हैं जहां पर चूहे चोरी करते हैं। इस स्थान का नाम दंतेश्वरी मंदिर हैं। बता दें कि इस मंदिर को शक्तिपीठ के रूप में भी जाना जाता हैं। यह मंदिर छत्तीसगढ़ के जगदलपुर में बना हुआ हैं। इस मंदिर के पुजारी वर्तमान में चोरी होने की घटनाओं से बहुत परेशान हैं।

हैंरानी की बात यह हैं कि यह चोरियां कोई इंसान नहीं बल्कि चूहे कर रहें हैं। दंतेश्वरी मंदिर करीब 127 वर्ष पुराना हैं। इस मंदिर में चूहों ने लोगों को बहुत परेशान कर रखा हैं। इस शक्तिपीठ के चूहे मंदिर से दिए की बुझी बत्तियां इत्यादि नही बल्कि चांदी का सामान उठा ले जाते हैं। पिछले कई दिनों से मंदिर की कटोरियाँ चूहों के बिलों के पास से मिली रही हैं। अब हालात ये हैं कि प्रतिदिन रात्रि की आरती के बाद आरती की थाली को बांस की टोकरी से ढकना पड़ता हैं।

People in Danteshwari temple are sick of Rats that are stealing people’s belongingsimage source:

इस शक्तिपीठ के अंदर कहने को तो दीवारों में संगमरमर लगा हुआ हैं पर इसके बावजूद मंदिर की दीवारों में चूहे अपने बिले बनाकर बैठे हैं। रात्रि के समय मंदिर के कपाट बंद होने के बाद यह चूहे धमाचौकड़ी करना शुरू कर देते हैं। यह चूहे मंदिर की प्रतिमा के सामने रखे चांदी के दिए तथा थाली आदि उठा कर ले जाते हैं।

माना जा रहा हैं पूजा के इन बर्तनों में आरती के लिए देसी घी रखा रहता हैं इसीलिए यह चूहे इनको उठा कर ले जाते हैं। इस मंदिर के पुजारी कृष्णकुमार कहते हैं कि “इन चूहों ने हम लोगों को बहुत परेशान किया हुआ हैं। प्रतिदिन पूजन के बर्तन ढूंढने पड़ते हैं। इस मंदिर की संपत्ति टेम्पल इस्टेट कमेटी की हैं इसलिए कमेटी के प्रधान को चूहों से होने वाली परेशानी की सुचना दे दी गई हैं। अब तक करीब 25 से 30 चांदी के दिए चूहों ने गायब कर दिए हैं।”

Most Popular

To Top