अब मोबाइल के इस्तेमाल पर भी लगेगा ऑड-ईवन!

0
290

दिल्ली में केजरीवाल सरकार को आए लगभग एक साल होने जा रहा है। जब पिछले साल राजधानी की सत्ता केजरीवाल के हाथों सौंपी गई तो लोगों को केजरीवाल के लुभावने वादे याद आ रहे थे। लोगों को लग रहा था कि केजरीवाल सरकार दिल्ली को बदलेगी, लेकिन किसी ने ऐसा सपने में भी नहीं सोचा था कि बड़े-बड़े लुभावने वादे करने वाली ये सरकार अपने वादों पर ध्यान ना देकर राजधानी के लोगों के लिए नए-नए रूल बनाकर खड़ा करेगी। हालांकि ऐसा केजरीवाल सरकार दिल्ली को प्रदूषण मुक्त करने के लिए कर रही है, लेकिन केजरीवाल सरकार के ऑड ईवन जैसे रूल दिल्ली की कुछ जनता को ही भा रहे हैं, जबकि कुछ जनता केजरीवाल के ऐसे नियम को पचा नहीं पा रही है।

kejriwal-Image Source:
आज दिल्ली में ऑड ईवन के ट्रायल का आखिरी दिन है। ऐसे में केजरीवाल सरकार दिल्ली की जनता को ऑड ईवन नियम को सफल बनाने के लिए धन्यवाद भी करने वाली है, लेकिन आज हम जो आपको बताने जा रहे हैं वो खबर यह है कि दिल्ली में गाड़ियों के ऑड ईवन के बाद अब लगता है कि राजधानी में ऑड ईवन की हवा ही बहना शुरू हो गई है। अब आप ज्यादा सोचें, उससे पहले ही आपको बता दें कि राजधानी के सेंट स्टीफन कॉलेज में अब मोबाइल पर भी ऑड ईवन फॉर्मूला लागू करने के लिए कदम उठाया जा रहा है। हालांकि ये सब केजरीवाल सरकार ने नहीं किया है। सेंट स्टीफन कॉलेज के छात्रों ने ही मोबाइल के इस्तेमाल पर ऑड ईवन नियम को अपनाने का संकल्प लिया है। छात्रों का कहना है कि मोबाइल के इस्तेमाल से होने वाले घातक रोगों से बचने के चलते कॉलेज में मोबाइल पर ऑड ईवन नियम लागू किया जा रहा है।

St.stephenImage Source:

ऐसे में अब ये साफ है कि प्रदूषण को रोकने की तर्ज पर ही अब इस कॉलेज के छात्र एक दिन ऑड, तो एक दिन ईवन नंबर के मोबाइल का इस्तेमाल किया करेंगे। हालांकि कॉलेज प्रशासन ने साफ कर दिया है कि ये नियम किसी भी छात्र के लिए बाध्यकारी नहीं हैं। जो छात्र इन नियमों को अपनाना नहीं चाहते हैं, उन्हें छूट है। वहीं, सेंट स्टीफन कॉलेज के प्रिंसिपल वॉल्सन थंपू का कहना है कि- ‘मैंने जुलाई से ही अपने फोन का इस्तेमाल करना छोड़ दिया है। जिससे मेरा डिस्ट्रेक्शन और हेडेक काफी कम हो गया है।’ तो ऐसे में प्रिंसिपल सर हम तो बस यही कहेंगे कि मोबाइल के इस्तेमाल से आपका हेडेक तो कम हो गया है, लेकिन केजरीवाल सरकार ने अगर ऐसा राजधानी के लिए कर दिया तो ना जाने यह नियम गाड़ियों के नियम के बाद कितनों का हेडेक बढ़ा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here