भगवान शिव को भूलकर न चढ़ाएं ये चीजें, आपको हो सकती है हानि

0
679
भगवान शिव

वर्तमान में सावन का माह चल रहा है। शिवभक्त लोग भगवान शिव को मनाने में कोई कौर कसर नहीं छोड़ना चाहते। वे मंदिर में जाकर बहुत सी चीजों को चढ़ा कर अपनी श्रद्धा को प्रकट कर रहें हैं। आपको हम बता दें की भगवान शिव पर आप बेल पत्र सहित धतूरा या भांग चढ़ा सकते हैं लेकिन कुछ चीजें ऐसी भी हैं। जिनको चढाने से आपके जीवन में हानि होने की संभावना बढ़ जाती है। आज हम आपको कुछ ऐसी ही चीजों के बारे में यहां बता रहें हैं। जिनको शिव जी को अर्पित नहीं करना चाहिए। आइये जानते हैं ऐसी ही कुछ चीजों के बारे में।

1 – हल्दी

 हल्दीImage source:

हल्दी का यूज सामान्यत भोजन में किया जाता है। यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत उपयोगी होती है। लेकिन जहां तक बात इसको पूजन में यूज करने की बात है तो बता दें की हल्दी भगवान विष्णु को अर्पण की जाती है तथा यह सौभाग्य की सूचक होती है। इसको भगवान शंकर को अर्पण नहीं किया जाता है। अतः हल्दी को शिव जी को अर्पित न करें।

यह भी पढ़ें – सावन माह का यह 1 काम आपकी गरीबी और सभी समस्याओं को कर देगा खत्म

2 – तुलसी

तुलसीImage source:

तुलसी हिंदू लोगों के घरों में पाई जाती है। यह एक ओषधीय पौधा भी है। पौराणिक कथाओं के अनुसार तुलसी का जन्म जालंधर नामक असुर की पत्नी वृंदा के अंश से हुआ था और तुलसी को भगवान विष्णु ने पत्नी रूप में स्वीकार किया था। अतः तुलसी को शिव पूजन में यूज नहीं किया जाता है।

3 – तिल

तिलImage source:

तिल का यूज भोजन से लेकर ओषधीय रूप में किया जाता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार तिल भगवान विष्णु के मैल से उत्पन्न हुए थे अतः शिव पूजन में इनका यूज नहीं किया जाता है।

यह भी पढ़ें – शुरू हो चुका है सावन माह, इस प्रकार करें भगवान शिव को शीघ्र प्रसन्न

4 – टुटा चावल

टुटा चावलImage source:

चावल यानि अक्षत को शुभ कार्यों के अलावा पूजन में भी यूज किया जाता है लेकिन टुटा चावल भगवान शिव को अर्पित नहीं किया जाता है। माना जाता है की टूटे चावल अपूर्णता का प्रतीक होते हैं।

5 – कुमकुम

कुमकुमImage source:

कुमकुम असल में सौभाग्य का प्रतीक होती है लेकिन भगवान शिव वैराग्य का जीवंत प्रतीक माने जाते हैं। यही कारण है की कुमकुम को शिव पूजन में यूज नहीं किया जाता है। अतः जब कभी भी आप शिव पूजन करें इन चीजों का यूज न करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here