ऋषिकेष में दिखे भगवान कृष्ण जहां पर हुआ कई लोगों का जीवन उद्धार

श्रीकृष्णा

90s का वो वक्त जब श्रीकृष्णा के सीरियल के चालू होते ही लोग टीवी के सामने ऐसे बैठते थे कि आने वाले इस सीरियल में मानों साक्षातभगवान श्रीकृष्ण के दर्शन हो रहे हो। संडे की की सुबह होते ही लोग नहा धोकर टीवी के सामने बैठ जाते थे। और रामानंद सागर द्वारा बनाये गये धार्मिक सीरियल श्री कृष्णा का प्रसारण शुरू हो जाता था। इस सीरियल में कृष्ण का रोल करने वाले सर्वदमन डी बनर्जी के चहरे को आज भी दर्शक अपने दिमाग से भुला नही पाये है आज हम बता रहे है उन्ही कृष्ण के बारे में, जो अब स्टूडियों की लाइम-लाइट से ओझल होकर ऋषिकेश में अपना उजाला फैला रहे है।

श्रीकृष्णा

पंख नाम के NGO से जुड़े हैं सर्वदमन –

पंख नाम के NGO से जुड़े हैं सर्वदमन -

आजकल सर्वदमन डी बनर्जी ऋषिकेष में नदियों और पहाड़ों के बीच स्वर्गनुमा माहौल में अपना एक मेडीटेशन सेंटर चलाते हैं, देश विदेश से आने वाले लोग उनके यहां आकर योग और मेडीटेशन का फायदा उठा रहे हैं पंख नाम का एक NGO चलाकर करीब 200 बच्चों की पढ़ाई लिखाई का ध्यान रखते हैं इसके अलावा वे महिलाएं जिनका कोई नही है वे महिलाए बेहतर ढंग की जिंदगी जी सके, इस लायक बनाने के लिए उन्हें बेहतर काम की ट्रेनिंग दे रहे है।

रामानंद सागर के श्री कृष्णा सर्वदमन बनर्जी के बारे में –

रामानंद सागर के श्री कृष्णा सर्वदमन बनर्जी के बारे में

ग्लैमर की दुनिया छोड़ एकांत सी जगह पर बसकर लोगों की जिंदगी को सभालने का जिम्मा अकेले ही उठाने का ख्याल उन्हे कैसे आया, इसके बारें में वो बताते है कि ग्लैमर की दुनिया में चकाचौध करने वाली  ग्लैमर नाम की कोई जगह नही है वो मात्र देखने वालों के लिए है। कृष्णा सीरियल की शूटींग करते हुये जब वो पूरी तरह से थक गए ,तब उन्होनें इसे छोड़ने का फैसला ले लिया। और रामानंद सागर से हाथ जोड़ विनती की, दद्दा अब हमको माफ करो, अब ये हमारा आखिरी प्रोजेक्ट होगा। इसके बाद जय श्री कृष्ण..

बैसे तो उनके अंदर आध्यात्मिक की ओर बढ़ने वाली एनर्जी बचपन से ही जोर मार रही थी। कृष्णा एपिसोड करने के बाद मानों उन्हे इस ओर जाने का मार्ग सा मिल गया। और चले गए अपने अधायत्म की ओर जिसका इंतजार ऋषिकेश में काफी बेसहारा लोग कर रहे थे।

कृष्णा सीरियल के समय की एक दिलचस्प करने वाली शायद आप लोगो को पता नही होगी। आज आपको बताते हैं कि बीआर चोपड़ा के महाभारत वाले कृष्ण और (कृष्णा वाले ) कृष्ण में हमेशा 36 का आंकड़ा होता था इसके पीछे भी एक किस्सा है। एक बार मुंबई में हुए लायंस क्लब के प्रोग्राम में रामानंद सागर वाले कृष्ण (सर्वदमन) का सम्मान से सम्मानित किया जा रहा था। तभी वहां पर किसी ने उनसे बी.आर. चोपड़ा वाले कृष्ण (नीतीश भरद्वाज) के बारे में पूछ लिया। तब सर्वदमन ने यह कहकर कि-“कौन से कृष्ण? वही जिनके बारे में दुनिया का कोई कृष्ण भक्तों में से कोई नही जानता..उनकी अपेक्षा मुझसे मिलने के लिेये बीबीसी की टीवी टीम गुजरात में लक्ष्मी स्टूडियो तक चली आई थी। यहां तक कि टीएनटी वालों ने मेरा सीरियल खरीद लिया है। जिसे चार देशों में मेरा सीरियल दिखाया गाया। मैंने तो दुनिया में धूम मचा दी।”

रामानंद सागर के श्री कृष्णा सर्वदमन बनर्जी के बारे में

महाभारत के कृष्ण नीतीश भरद्वाज के पास जब यह खबर पहुचीं तो उन्होने इतना ही जबाब दिया कि- ‘जिनसे घर में दिया नहीं जला, के दावे कर रहे हैं। किसी हिंदुस्तानी से पूछते, कोई पहचानता है इन्हें ? इस किस्से से साबित होता है कि भगवानों के बीच भले ही ना लड़ाई न हो लेकिन भगवान का रोल करने वालों में खींचतान हो सकती है।

To Top