सांप को अस्पताल में मिला पर्सनल बेड और खिलाये जा रहें हैं अंडे, आखिर क्यों?

सांप

आजकल बीमार लोगों की संख्या इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि अस्पतालों में ईलाज के लिए उन्हें बैड मिल पाना मुश्किल हो जाता है, लेकिन एक सांप को न सिर्फ अस्पताल में पर्सनल बैड मिला है बल्कि उसको खाने में अंडे तथा ग्लूकोज भी दिया जा रहा है। यही कारण है कि वर्तमान में सोशल मीडिया पर इस सांप की तस्वीरें काफी वायरल हो रही हैं। इसे देख कर लोग भी हैरत में है और वह भी इस सोच में है कि आखिरकार एक सांप को ऐसा वी.आई.पी ट्रीटमेंट क्यों दिया जा रहा है, ऐसी खासियत है इसमें। अगर आपके मन में भी यही सवाल उठ रहा है तो चलिए जानते है कि आखिर क्या है यह पूरा मामला।

सांपImage source:

दरअसल यह खबर इंसानी दरयादिली की मिसाल है जो दिखाती है कि इंसान में कितनी दयालुता होनी चाहिए। आपको बता दें कि यह घटना अपने देश के छत्तीसगढ़ के नया रायपुर की है। खबरों के अनुसार नया रायपुर के रहने वाले एक परिवार को यह सांप घायल अवस्था में मिला था। उन्होंने इसका ऑपरेशन करवाया। सांप का ईलाज अवंति विहार के एक अस्पताल में करवाया गया है, जिससे इसकी जान बच गई।

सांपImage source:

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस सांप की रीढ़ की हड्डी में फ्रेक्चर था, जिसका सफल आप्रेशन किया गया है। फिलहाल के लिए सर्प की हड्डी पर जोर न पड़े इसलिए इसे बिस्तर पर लिटाया गया है तथा उसको लिक्विड और ग्लूकोज दिया जा रहा है। खाने के लिए अंडे दिए जा रहे हैं। डाक्टरों के अनुसार सांप को अभी एक सप्ताह के लिए बैड रेस्ट पर रखा जायेगा। मिली जानकारी के अनुसार सर्प की जान बचाने का यह कार्य “मनजीत कौर बल” नामक एक महिला ने किया है। यह एक घर में निकला था और वहां जमा हुए लोगों ने इस पर हमला कर इसकी यह दशा कर डाली थी।

इसकी खबर जब सोशल वर्कर मनजीत कौर को मिली तो वे घटना स्थल पर पहुंची। उनके पहुंचने तक लोगों ने सांप को घायल कर घर से निकाल दिया था और एक लोहें के सरिय से उसे दबोच रखा था। लोगों के हमले से सर्प को गहरी चोट आयी थी और उसकी रीढ़ की हड्डी भी टूट गई थी। मनजीत ने सर्प के चोटिल होने की खबर अपनी बेटी को दी और उसने सांप को अपने ऑफिस देवपुरी लाने के लिए कहा। जिसके बाद उसका आपरेशन करवाया गया। यह आप्रेशन 45 मिनट तक चला और अब सांप को खतरे से बाहर बताया जा रहा है।

To Top