इन बातों का ध्यान रख कर बचा सकते हैं अपनी प्रतिष्ठा

0
414

आज के दौर में लोग अपने जीवन में कई सारी ऐसी गलतियां कर देते हैं, जिससे समाज में उनकी प्रतिष्ठा में हानि होती है। आचार्य चाणक्य ने मानव जीवन के लिए कुछ सूत्र दिए हैं जिनको अपनाकर हम अपने जीवन को आसान और सरल बना सकते हैं। फिलहाल आज हम आपको जीवन में प्रतिष्ठा कम करने वाली कुछ गलतियों के बारे में बता रहे हैं। आचार्य चाणक्य के अनुसार इन गलतियों को न करने से कम होती प्रतिष्ठा को बचाया जा सकता है।

1- दो ज्ञानियों के बीच से नहीं निकलना चाहिए

आपको बता दें कि दो ज्ञानी जब भी मिलते हैं वो हमेशा ज्ञान की ही बात करते हैं। ऐसे में उनके बीच से निकलने से बचना चाहिए।

1Image Source: http://www.haribhoomi.com/

2- ब्राह्मण और आग

ब्राह्मण और आग के बीच से भी नहीं निकलना चाहिए, क्योंकि ब्राह्मण अग्नि के समक्ष बैठकर हवन करता है। ऐसे में ब्राह्मण और हवन कुंड के बीच में से निकलने पर पूजा बाधित होती है। जिससे प्रतिष्ठा में होनी होती है।

2Image Source: http://nishpakshbaat.com/

3- पति और पत्नी

पति और पत्नी कहीं पर बात कर रहे हों तो उनके बीच में से निकलने से बचना चाहिए। यह सभ्यता होती है। ऐसा करने से उनके बीच का एकांत टूट जाता है।

3Image Source: http://4.bp.blogspot.com/

4- हल और बैल

हल और बैल के बीच से भी निकलने का प्रयास नहीं करना चाहिए। इससे आपको चोट भी पहुंच सकती है।

4Image Source: http://images.jagran.com/

5- मालिक और नौकर

मालिक और नौकर के बीच में से भी निकलने से बचना चाहिए। मालिक अपने नौकर को जरूरी काम समझा रहा हो और आप जब उनके बीच से निकलेंगे तो उनकी बात अधूरी रह जाएगी।

5Image Source: http://media-cdn.list.ly/

आचार्य चाणक्य ने अपनी नीतियों को जीवन शैली असान बनाने के लिए ही लिखा है। इन नीतियों के लिए उन्होंने मानव जीवन का सूक्ष्म अध्ययन किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here