_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/04/","Post":"http://wahgazab.com/why-does-india-media-want-to-spread-communalism-in-society/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/jeep/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/4637f7a6561ca2676cbe41cadf6c6461/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

उत्तर प्रदेश के इस गांव में होती है मरे हुए लोगों की शादी, निभाई जाती हैं सभी रस्में

उत्तर प्रदेश

 

जिंदा लोगों की शादी होना तो एक आम बात है, लेकिन अगर कोई आपसे मरे हुए लोगों के विवाह की बात करे तो क्या आपको अजीब नहीं लगेगा। क्या मृत लोगों की शादी किया जाना आश्चर्यजनक नहीं है। आज हम आपसे इसी बारे में बात करने जा रहें हैं। दरअसल उत्तर प्रदेश के एक गांव में मरे हुए लोगों का विवाह किया जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस विवाह को बहुत धूमधाम तथा सभी रस्मों रिवाजों के साथ किया जाता है। आज हम आपको इस गांव तथा इस अजीबोगरीब विवाह के बारे में ही बता रहें हैं। आइये जानते हैं इसके बारे में।

यहां कराई जाती है मृत लोगों की शादी –

उत्तर प्रदेशImage Source:

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले के अंतर्गत आने वाले एक गांव में मृत लोगों के विवाह की रस्म निभाई जाती है, जिसमें मौत के बाद दूल्हा आता है और शादी करता है। सहारनपुर जिले के मीरपुर गांव के नटबाजी समाज में इस प्रथा के अंतर्गत मौत के बाद लोगों की शादियां की जाती है। ये शादियां बहुत धूमधाम और सभी रस्मों के साथ होती हैं।

वर्षों से चल रही है परंपरा –

उत्तर प्रदेशImage Source:

मीरपुर के इस गांव में मृत लोगों से शादी करने की यह प्रथा वर्षों से चली आ रही है। यहां के लोग अपनी लड़कियों की शादी के लिए इस प्रकार के लड़कों को ढूंढते हैं जिनकी मौत कुछ ही समय पहले हुई हो। इस प्रकार से लड़की के लिए मृत व्यक्ति को ढूंढा जाता है। हालांकि जब शादी का कार्यक्रम शुरू होता है तो गुड़िया तथा गुड्डे को दुल्हन और दूल्हे के प्रतीक रूप में मंडप में रख दिया जाता है और पंडित सभी रस्मों के साथ गुड्डे-गुड़िया की शादी करा देता है।

To Top