इस चिड़ियाघर में भूख से मरे जानवरों का शरीर बना ममी

0
419

एक समय था जब लोग बड़े मन से अपने बच्चों को लेकर चिड़ियाघरों में जाया करते थे। इस तरह से लोग बच्चों का सामान्य ज्ञान और जानकारी बढ़ाया करते थे, लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि एक ऐसा चिड़ियाघर भी है जहां पर रहने वाले जानवरों की किसी ने सुध-बुध नहीं ली और भूख के कारण एक-एक करके सभी जानवरों ने अपने प्राण त्याग दिए।

एक-समय-था-जब-लोग-बड़े-मन-से-अपने-बच्चों-कोImage Source :http://i9.dainikbhaskar.com/

दरअसल इज़रायल और फिलिस्तीन के बीच चल रहे संघर्ष के कारण इस चिड़ियाघर की ऐसी दुर्दशा हुई थी। यह खान यूनिस चिड़ियाघर की घटना है। यह चिड़ियाघर गाजा पट्टी में स्थित है। साल 2014 में देश में चल रहे विद्रोह के माहौल के बीच इस चिड़िया घर की काफी अनदेखी की गई। इस वजह से यहां कई जानवरों की मृत्यु हो गई थी। इसके बाद यहां की बदहाली की तस्वीरें सबके आगे आई थीं।

दरअसल-इज़रायल-और-फिलिस्तीन-के-बीचImage Source :http://media.indiatimes.in/

लेकिन इस वर्ष इस चिड़िया घर की जो तस्वीरें सबके आगे आई हैं वह और भी दर्दनाक हैं। जानवरों के मरने के बाद उनके शव तक यहां से नहीं उठाए गए थे। जिसके बाद वह जिस अवस्था में मरे, उसी अवस्था में उनके मृत शरीर एक ही जगह जम कर ममी बन गए। इस घटना के बाद से दुनिया में इस चिड़िया घर को सबसे बदहाल चिड़िया घर के रूप में पहचान मिली है। इन मरने वाले जीवों की बॉडी में मगरमच्छ और शेर भी हैं।

लेकिन-इस-वर्ष-इस-चिड़िया-घर-की-जोImage Source :http://i.huffpost.com/

सभी मरे हुए जानवरों की हड्डियां तक दिखने लगी हैं। गाजा वार 2014 में हुआ था। इसके बाद ऑपरेशन प्रोटेक्टिव एज में लगभग 2000 फिलिस्तीन लोगों की जान गई थी। इस लड़ाई में गाजा पट्टी के पांच चिड़ियाघर प्रभावित हुए थे। जिसके बाद अल बिसन चिड़ियाघर में 80 जानवरों की मृत्यु हो गई थी और 20 जानवरों की जान बचा ली गई थी। गाजा गवर्मेंट का कोई एनिमल राइट मूवमेंट ना होने कारण जानवरों की स्थिति दिन-ब-दिन और अधिक ख़राब होती गई और चिड़ियाघरों की हालत बदहाल हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here