आचार्य चाणक्य के अनुसार इन दो बातों को कभी न करें किसी के सामने व्यक्त

आचार्य चाणक्य

आचार्य चाणक्य को हर एक शख्स जानता हैं। वे एक बड़े विद्वान व्यक्ति थे। इसके साथ ही वह एक अच्छे राजनीतिक तथा एक दार्शनिक भी थे। उन्होंने अपने जीवनकाल के दौरान मानव जाति की भलाई के लिए कई ग्रंथों को लिखा लेकिन उनके द्वारा लिखी गई पुस्तकों में से  “चाणक्य नीति” सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है। यह वह पुस्तक है। जिसमें जीवन के हर पक्ष विपक्ष की बातों को वर्णात्मक ढंग से बताया गया है। इस पुस्तक की नीतियों को अपने जीवन में अपनाकर बहुत से लोगों ने अपने जीवन में सफलता पाई है। मानव भलाई के लिए आचार्य चाणक्य ने कुछ अन्य बातों को भी बताया है। आज हम आपको उनके द्वारा कही गई 2 बातों के बारे में बता रहें हैं। चाणक्य ने इन बातों में बताया है कि आखिर वे कौन सी चीजें है जो एक पुरुष को कभी किसी के सामने प्रकट नहीं करनी चाहिए। आइये जानते हैं इन दो बातों के बारे में।

1- पत्नी का चरित्र

पत्नी का चरित्र Image source:

आचार्य ने पुरुष जाति को इंगित करते हुए कहा है कि एक पुरुष को कभी भी अपनी पत्नी के चरित्र के बारे में किसी को नहीं बताना चाहिए। यदि कोई पुरुष अपनी पत्नी के चरित्र को किसी अन्य के सामने व्यक्त करता है तो उसको कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। अतः सभी पुरुषों को चाणक्य की इस बात का ध्यान अवश्य रखना चाहिए।

2- आर्थिक बातें

आर्थिक बातें Image source:

दूसरी बात में चाणक्य ने कहा है कि वे अपने आर्थिक व्यवहार या संबंध को किसी के सामने प्रकट न करें अर्थात आपको किस कार्य में कितना लाभ हुआ और कितनी हानि हुई। इस बारे में आपको किसी भी व्यक्ति से नहीं बताना चाहिए। यदि कोई व्यक्ति ऐसा करता है तो उसको लोभी लोगों से हानि उठानी पड़ सकती है। अतः इस दूसरी बात को ध्यान में रखते हुए इसे किसी को न बताएं।

To Top