तुगलकी फरमान – “8 वर्ष के लड़के से करो 5 वर्ष की बच्ची की शादी”

आज के समय में पंचायत के कई ऐसे फैसले सुनने या पढ़ने को मिल जाते हैं, जिनको जानकर हर कोई चकित रह जाता है, हालही में एक ऐसा ही फैसला आया है, जिसमें 5 वर्ष की एक लड़की की शादी 8 वर्ष के लड़के से करने के फैसला सुनाया गया है। इस तुगलकी फरमान के बाद में लड़की की मां अब प्रशासन से मदद की गुहार लगा रही है। इस फैसले को जिसने भी सुना है वह हैरान और चकित रह गया और इसलिए वर्तमान में यह खबर सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है, आइए हम भी आपको बता दें इस खबर के बारे में।

Image Source:

सबसे पहले हम आपको बता दें कि यह खबर आई है मध्यप्रदेश के गुना जिला स्थित तारापुर नामक गांव से, यहां पर पंचायत ने एक तुगलकी फरमान जारी किया है और यह फरमान इस गांव में रहने वाले एक दंपत्ति के लिए जारी किया गया है। पंचायत ने इस फैलने में यह कहा है कि दंपत्ति को अपनी 5 वर्ष की बेटी की शादी 8 वर्ष के बच्चे से करानी होगी और इस फैसले के बाद में यह दंपत्ति पुलिस से प्रशासन तक सभी जगह गुहार लगा रहें है।

आपको हम बता दे कि प्रशासन से लड़की की मां ने बताया था कि एक बार उसके पति खेत में थे और गांव के एक व्यक्ति का बछड़ा खेत में आकर गेहूं की फसल को चुगने लगा जिसके बाद उसके पति ने बछड़े को एक पत्थर से मार दिया और अचानक पत्थर लगने से बछड़े की मौत हो गई और पंचायत ने बछड़े की मौत के बदले में उसकी 5 वर्षीय लड़की की शादी विदिशा जिले के एक 8 वर्षीय लड़के से कराने का फरमान जारी कर दिया। अपर जिला मजिस्ट्रेट नियाज खान ने कहा है कि जिला प्रशासन ने गांव के सभी निवासियों को चेतावनी दी है कि यदि लड़की की शादी के लिए दंपत्ति पर दबाव डाला गया तो सभी के खिलाफ एफआईआर दर्ज होगी। प्रशासन इस मामले को लेकर काफी गंभीर है क्योंकि पंचायत ने यह फैसला करीब 4 महीने पहले सुनाया था और प्रशासन के पास इस बात की अब तक कोई खबर नहीं दी गई। असल में गांव के पचों का मानना है कि जब से बछड़े की मौत पत्थर के मारने से हुई है तब से इस गांव के अन्य लड़के लड़कियों की शादी भी नहीं हो पा रही है, यह एक श्राप जैसा ही है और इस श्राप से बचने के लिए सबसे पहले बछड़े को पत्थर से मारने वाले व्यक्ति को अपनी लड़की की शादी किसी अन्य लड़के से करानी होगी और इसलिए ही सभी गांव वाले इस दंपत्ति पर अपनी लड़की की शादी जल्दी कराने का दबाव डाल रहें थे, लेकिन अब यह बात प्रशासन तक पहुंच चुकी है और अब इस मामले में कानूनी कार्यवाही चल रही है।

To Top