ताज महल का दीदार अब होगा और भी महंगा

दुनिया के सात अजूबों में से एक है भारत का ताज महल, जिसका दीदार करने के लिए देश-दुनिया से लोग आते हैं। लेकिन हो सकता है कि आपको यह बात जानकार इतनी खुशी ना हो क्युकी ताजमहल को देखना अब महंगा होने वाला है। आगरा विकास प्राधिकरण ने वर्ल्ड हेरिटेज साइट ताजमहल में अपनी हिस्सेदारी को बढ़ने की बात कही है। अगर ऐसा होता है तो ताजमहल में दाखिल होने का शुल्क दोबारा से बढ़ाया जा सकता है।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा ताजमहल के प्रवेश शुल्क की दरों में पिछले दिनों भारी बढ़ोतरी की गई थी, जिसके बाद अब आगरा विकास प्राधिकरण ने भी इसमें अपनी हिस्सेदारी का प्रस्ताव रखा है। ताजमहल का प्रवेश शुल्क भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण और आगरा विकास प्राधिकरण के प्रभार टोल टैक्स पर निर्भर करता है। देश में केवल आगरा ही ऐसा स्थान है जहां पर हिस्टोरिकल स्थानों को देखने के लिए टोल टैक्स पर्यटकों से प्राप्त राशि से जमा किया जाता है।

archaelogical-survey-of-indiaImage Source :http://images.mapsofindia.com/

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण ने देश की 32 वर्ल्ड हेरिटेज साइट्स में अपनी हिस्सेदारी को तीन गुना तक बढ़ा दिया है। जिसके बाद अब ताजमहल का टिकट घरेलु दर्शकों के लिए 10 रुपए से बढ़ाकर 30 रुपए कर दिया गया है। इसके अलावा विदेशी पर्यटकों के लिए टिकट की राशि को 100 फीसदी बढ़ा कर 250 रुपए से 500 रुपए कर दिया गया है।

आगरा विकास प्राधिकरण के चैयरमेन प्रदीप भटनागर ने कहा कि टोल टैक्स को बढ़ने का प्रस्ताव किया गया है, लेकिन शुल्क में बढ़ोतरी के इस प्रस्ताव को अभी राज्य सरकार से मंजूरी नहीं प्राप्त हुई है। इसके अलावा अभी उन्होंने इस बारे में भी कोई जानकारी नहीं दी है कि इस प्रस्ताव की समय सीमा कितनी होगी। उन्होंने कहा कि इस प्रस्ताव पर सरकार को मंजूरी देनी चाहिए।

To Top