लो जी! अब तक सिर्फ महिलाएं थीं अब तो विज्ञान ने भी पुरुषों को उल्लू बनाया

-

पुरुष और महिलाओं के बीच में यदि समझदारी के बारें में बात करें, तो जाहिर ही है महिलाएं ही ज्यादा समझदार होती है लेकिन इस बात को यदि विज्ञान भी स्वीकार कर ले, तो ये बात शायद पुरूषों को हजम नही हो पायेगी। जीं हां, ये बात पूरी तरह से सही है कि महिलाओं की अपेक्षा पुरूषों के सोचने समझने की क्षमता काफी कम होती है। ये बात पुरूष तब स्वीकारते है जब उनकी जेब खाली होने की कगार पर होती है।

यदि किसी व्यक्ति या पुरूष की कार्य क्षमता के बारें में बाते करें, तो ज्यादातर लोगों का सोचना भी यही होता है। महिलाओं की अपेक्षा पुरूष ज़्यादा जल्दी मेच्योर हो जाते हैं, इसलिये उनकी कार्य क्षमता भी उनके मुताबिक अलग होती है लेकिन असल में ऐसा सोचना गलत है। दरअसल, हाल ही में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा एक शोध किया गया। इस शोध में 4 से 40 वर्ष की आयु तक के 121 लोगों को शामिल करके उनके मस्तिष्क की जांच की गई। इस जांच के दौरान वैज्ञानिकों ने पाया कि पुरुषों के मुक़ाबले महिलाओं का मस्तिष्क जल्दी विकसित होता है।

इसका मतलब यह है कि महिलाएं पुरुषों की अपेक्षा जल्दी मेच्योर हो जाती हैं। इस शोध का उद्देश्य ये पता लगाना था कि मैचुरेशन के दौरान कौन सी ऐसी चीज़ होती है, जो बदलती है और कौन सी चीज़ होती है, जो सामान रहती है। जिसमें यह पाया गया कि महिला और पुरुष रोज़मर्रा की जिंदगी में सामान क्षमता से जब कोई कार्य करते हैं। तो महिलाओं की तुलना में पुरुषों काफी धीमी गति से काम करते है।

पुरुष- महिलाएं

 वहीं UNAM में फिजियोलॉजी एंड फार्माकोलॉजी ऑन द फैकल्टी ऑफ मेड्सिन के प्रोफेसर एडुआर्डो कलिस्टो का मानना है कि पुरुषों का दिमाग़ भले ही महिलाओं से बड़ा होता है, लेकिन उनकी कार्य क्षमता के बारें में बात की जाये तो पुरुषों से बेहतर महिलाएं ही होती है। जिसका जीता जागता उदाहरण यह है कि महिलाओं को रंगों और स्वाद की समझ सबसे अधिक होती है।

अब तो पुरूष भी मान चुके होगें कि महिलाओं की बुद्धि उनके घुटनों में नही बल्कि दिमाग में होती है और पुरूषों की..अब आप ही इस आर्टिकल को पढ़कर जान सकते है।

Pratibha Tripathihttp://wahgazab.com
कलम में जितनी शक्ति होती है वो किसी और में नही।और मै इसी शक्ति के बल से लोगों तक हर खबर पहुचाने का एक साधन हूं।

Share this article

Recent posts

देखो भाई अजब तमाशा, जापान ने बनाया ऐसा टॉयलेट जो बोले खुलेपन की भाषा

वैसे तो पारदर्शिता या जिसे आप ट्रांसपेरेंसी कहते हैं वो चाहिए तो संबंधों में थी उससे मन साफ रहता पर चलिए यहाँ शौचालय पारदर्शी...

आजादी की आखिरी रात यानी १५ अगस्त, १९४७ को घटनाक्रम ने क्या-क्या मोड़ लिए थे, आईये जानते हैं

इस वर्ष यानि 2020 का स्वतंत्रता दिवस गत वर्षों से भिन्न होगा | दुर्भाग्यवश कोरोना महामारी से हमारा देश और पूरा विश्व प्रभावित है...

मशहूर शायर राहत इंदौरी का दिल का दौरा पड़ने से हुआ निधन

कल शाम दिल का दौरा पड़ने से मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन हो गया | ज़िन्दगी के ७० बरस गुज़ार चुकने के बाद...

बाबा ज्योति गिरि महाराज की काली करतूत वीडियो में हुई दर्ज

बाबा राम रहीम और आसाराम बापू के बाद हरियाणा के मार्केट में एक और बाबा का नाम नाबालिगों के साथ कथित तौर पर बलात्कार...

डब्बू अंकल को टक्कर देने आ गए डॉक्टर अंकल, कमरिया ऐसी लचकाई कि लोग हो गए दीवाने

बहुत वक़्त नहीं हुआ जब आपने एक शादी समारोह में भोपाल के संजीव श्रीवास्तव (डब्बू अंकल) नाम के व्यक्ति को गोविंदा के गाने पर...

Popular categories

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Recent comments