मौत के 17 साल बाद जिंदा देखा गया युवक

0
363

जीवन में बहुत सी ऐसी घटनायें देखने को मिलती हैं जिनके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता। आपने भी अपने जीवन में ऐसी कुछ घटनायें जरूर सुनी होगीं जिन पर सहज विश्वास नहीं होता है। ऐसी ही एक घटना हम आपको बता रहे हैं जिसमें एक युवक अपनी मृत्यु के 17 साल बाद फिर से जिंदा देखा गया। यह वाकया रामपुर के पास पीपली नायक गांव का है। यहां एक बच्चे की मौत हो गई थी जो 17 साल बाद युवक बनकर गांव लौट आया। उसे दो साल की उम्र में सांप ने डंस लिया था और ऐसी आशंका जताई जा रही है कि सपेरे उसे कब्र से निकाल ले गए थे। अब उसे माता-पिता व ग्रामीणों ने पहचान लिया जबकि सपेरे उसे अपना भांजा बता रहे हैं।

क्या है पूरा मामला –
कहा जाता है कि गांव पीपली नायक निवासी चंद्रपाल के दो साल के बेटे अंकित की सांप के डंसने से 17 वर्ष पूर्व मौत हो गई थी। परिजनों ने शव को गांव के बाहर बने तालाब के पास दफन कर दिया था। दो दिन तक शव कब्र में रहा। तीसरे दिन कब्र से शव गायब हो गया, जिससे परिजनों को गांव में आये सपेरों पर संदेह हो गया। उनका अनुमान था कि सपेरे शव निकालकर ले गए हैं।

man returns home after 17 years of deathImage Source: http://img.patrika.com/

एक दिन तीन सपेरे गांव में सांप का तमाशा दिखाने पहुंचे तो उनके साथ 19 वर्ष का युवक भी था। चन्द्रपाल की पत्नी गीता देवी ने युवक को पहचान लिया और उसे अपना पुत्र अंकित बताया। युवक के दांये हाथ पर सांप के काटने का निशान भी पाया गया। सपेरे सुभाष व उसके साथियों का कहना था कि युवक पलवल हरियाणा निवासी रोहित पुत्र रमेश है, जो उसका भांजा है। इसी बात को लेकर दोनों पक्षों में खींचतान हुई। गीता देवी का कहना है कि अंकित एक बहन और चार भाइयों में सबसे बड़ा है, जिसे सपेरे 17 वर्ष पूर्व ले गए थे। मामला गरमाने पर गांव में पुलिस पहुंच गई। दोनों पक्ष थाने गए। पुलिस मामले की जांच में लग गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here