विश्व जानना चाहता है एरिया 51 का सच

0
848

दुनिया भर के देशों के लिए एरिया 51 एक रहस्यमयी पहेली बना हुआ हैं। सभी इस खुफिया क्षेत्र में होने वाली गतिविधियों के बारें में जानने के इच्छुक बने रहते है। इस क्षेत्र से जुड़ी कई बातें हैं, कोई कहता है कि इस जगह पर अमेरिका खुफिया रिसर्च करता है। तो कोई कहता है कि यहां पर दूसरे ग्रह के प्राणियों को रखा जाता हैं। अमेरिका ने इस क्षेत्र में ड्रोन उड़ाना बैन कर रखा है।

एरिया 51 अमेरिका के क्षेत्र में आने वाला ऐसा रहस्य है, जिसके बारे में हर देश जानना चाहता है। यह अमेरिका का सबसे बड़ा खुफिया एरिया है। इसे अमेरिका की सेना का बेस भी कहा जाता है। यह लॉस वेगास के नजदीक नेवादा में स्थित हैं। इसके लिए कहा जाता है कि यहां पर गुपचुप तौर पर एलियंस पर भी रिसर्च की जाती है।

इसी जगह पर एक एलियंस यान यूएफओ 1947 में क्रेश हुआ था। जबकि वर्ष 2011 में एनी जेकोबसन नामक व्यक्ति ने अपनी बुक में इस बात का खंडन किया था।

wwImage Source: http://i9.dainikbhaskar.com/

यहां पर होने वाले खुफिया कार्य से सीआईए पहले खंडन करती थी। लेकिन अब पता चल चुका है कि यहां पर अमेरिका की ओर से खुफिया रिसर्च की जाती हैं। यहां पर से यूएस आर्मी ने अपने पहले ड्रोन की टेस्टिंग की थी। इसका नाम डी 21 था। कहा तो यह भी जाता है कि इस जगह पर एलियन को रखा गया है। जिससे यहां की सुरक्षा काफी अधिक हैं। ओसामा बिन लादेन को मारने में जिन ब्लैकहॉक हेलिकॉप्टर्स से कार्य लिया गया था। इन हेलिकॉप्टर्स को ऑपरेशन से पहले यहीं टेस्ट किए गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here