इंडोनेशिया में हैं विश्व प्रसिद्ध खूबसूरत हिन्दू मंदिर

0
474

भारतीय संस्कृति का प्रभाव सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी देखने को मिलता है। इंडोनेशिया में भी भारतीय परंपरा और हिन्दू संस्कृति की झलक देखी जा सकती है। यहां हिन्दू देवी-देवताओं के कई खूबसूरत मंदिर हैं। यह मंदिर काफी आकर्षक, वैभवशाली और विशाल हैं। इन मंदिरों को विश्व के सबसे खूबसूरत मंदिरों में से एक माना जाता है।

आप भी जानिए इन मंदिरों के इतिहास के बारे में और देखें इनकी तस्वीरें –

तनह लोट मंदिर

तनह-लोट-मंदिरImage Source :http://hindi.insistpost.com/wp-content/

यह मंदिर इंडोनेशिया के बाली द्वीप में एक काफी बड़ी समुंद्री चट्टान के ऊपर बना है। ऐसी मान्यता है कि इस मंदिर का निर्माण 16वीं सदी में हुआ था। यह भगवान विष्णु का मंदिर है। इस मंदिर को इंडोनेशिया के प्रमुख आकर्षणों में से एक माना जाता है।

पुरा तमन सरस्वती मंदिर

पुरा-तमन-सरस्वती-मंदिरImage Source :https://upload.wikimedia.org/wikipedia/

यह मंदिर बाली के उबुद क्षेत्र में बना है। यह मंदिर संगीत और ज्ञान की देवी सरस्वती को समर्पित है। इस मंदिर में एक बना सुंदर कुंड यहां का मुख्य आकर्षण है। इस मंदिर में प्रतिदिन संगीत कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है।

पुरा बेसकिह मंदिर

पुरा-बेसकिह-मंदिरImage Source :http://i9.dainikbhaskar.com/thumbnail/

पुरा बेसकिह मंदिर इंडोनेशिया का एक खूबसूरत और सबसे बड़ा मंदिर है। यह मंदिर जहां बसा है वह इलाका प्रकृति के काफी करीब है। इस मंदिर को 1995 में यूनेस्को ने वर्ड हैरिटेज़ का दर्जा दिया था। इस मंदिर में कई हिंदू देवी-देवताओं की प्रतिमाएं हैं।

सिंघसरी शिव मंदिर

सिंघसरी-शिव-मंदिरImage Source :http://images.jagran.com/images/

यह मंदिर पूर्वी जावा के सिंगोसरी में बना है। यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है। इस मंदिर में भगवान शिव का भव्य स्वरूप देखने को मिलता है। इस मंदिर का निर्माण 13वीं सदी में हुआ था। रोज़ाना यहां कई भक्त भगवान शिव के दर्शन के लिए आते हैं। शिवरात्रि या किसी अन्य धार्मिक अवसर पर इस मंदिर में काफी रौनक देखने को मिलती है।

प्रम्बानन मंदिर

प्रम्बानन-मंदिरImage Source :http://www.gyanpanti.com/wp-content/

यह मंदिर इंडोनेशिया के मध्य जावा में बना है। प्रम्बानन मंदिर भगवान ब्रह्मा, भगवान विष्णु और भगवान शिव तीनों को समर्पित है। इसलिए इस मंदिर में भगवान के त्रिदेव स्वरूप की पूजा की जाती है। त्रिदेव स्वरूपों के अतिरिक्त यहां त्रिदेवों के वाहनों के भी मंदिर बने हैं। यूनेस्को द्वारा वर्ड हैरिटेज़ में इस मंदिर को शामिल किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here