भारतीय पहलवानों और तैराकों का विजय अभियान जारी

0
335

दक्षिण एशियाई खेल में मेजबान भारत के शानदार खिलाड़ियों ने अपनी बादशाहत कायम रखी। इस अवसर पर खेलों में स्वर्ण पदक पाने वाले भारतीय खिलाड़ियों की सूची में और नाम जुड़ गए। इतना ही नहीं पहलवान और तैराकों ने इस प्रतियोगिता में देश को अभी तक 28 स्वर्ण पदक दिलवा दिए हैं। इतने पदक पाकर भारत अन्य देशों से आगे निकल चुका है। भारत के बाद अभी तक इस प्रतियोगिता में ज्यादा पदक श्रीलंका और उसके बाद पाकिस्तान के खिलाड़ियों ने जीते हैं।

भारत के खिलाड़ियों ने 12वें दक्षिण एशियाई खेलों के दौरान चल रही प्रतियोगिताओं में अपना दबदबा कायम रखा। इतना ही नहीं इन खिलाड़ियों ने अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से देश के खाते में और अधिक स्वर्ण पदक शामिल कर दिए हैं। कुश्ती में भारत ने रविवार को हुए मुकाबलों में चार स्वर्ण पदक जीते। इसमें 70 किलोग्राम वर्ग में अमित धनखड़, 58 किलोग्राम वर्ग में मंजू कुमारी, 53 किलोग्राम वर्ग में ममता और 61 किलोग्राम वर्ग में प्रदीप ने स्वर्ण पदक हासिल किया।

वहीं, वुशू प्रतियोगिता में एक स्वर्ण पदक भारत को मिला। इस प्रतियोगिता में अंजुल नामदेव ने रजत पदक अपने नाम किया, जबकि वाई सपना देवी ने स्वर्ण पदक पर कब्जा किया। इसके अलावा ताओलू प्रतियोगिता में सपना ने अच्छा प्रदर्शन किया। वहीं, इस प्रतियोगिता में नामदेव ने कांस्य पदक जीता।

1Image Source: http://images.livehindustan.com/

हॉकी में महिला टीम ने अपना शानदार प्रदर्शन किया। इसमें भारतीय महिला टीम ने नेपाल की टीम को 24-0 से हरा दिया। वहीं, साइकिलिंग प्रतियोगिता के दौरान लिदियामोल सन्नी ने स्वर्ण पदक और तोंगब्राम मनोरमा ने रजत पदक जीता। इसके अलावा तैराकी में कई रिकॉर्ड भी बनाए गए। जिसमें से भारतीयों ने तीन रिकॉर्ड बनाए। इसमें फ्रीस्टाइल की 1500 मीटर प्रतियोगिता में केरल से आए प्रतिभागी साजन प्रकाश ने स्वर्ण पदक जीता, जबकि महिलाओं में व्यक्तिगत मेडल में सयानी घोष ने स्वर्ण पदक जीता।

भारोत्तोलन में भारत ने 8 में से 6 स्वर्ण पदक अपने नाम किए हैं। इसमें सरस्वती राउत ने महिला वर्ग में, जबकि पुरुष वर्ग में साम्बो लापुंग और अजय सिंह ने अपने वर्ग के अंदर स्वर्ण पदक जीता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here