यहां क्यों गुनगुनाते हैं पत्थर और उछलने लगते हैं लोग

गुनगुनाते पत्थर एक ऐसी अजीब जगह जहां पत्थर तरह-तरह की मधुर आवाजें निकालते हैं और आदमी उछलते हैं। यहां सात धाराएं एक ही नदी में आकर मिलती हैं। जी हां, यह जगह किसी आश्चर्य से कम नहीं है। आइए जानते है इसके पीछे का रहस्य-

मैनापाट-
मैनापाट वैसे तो छत्तीसगढ़ में है पर सर्दी और तिब्बती शरणार्थियों के कारण इसे छत्तीसगढ़ का तिब्बत कहते हैं। यहां पर जलजला नामक स्थान पर चार एकड़ की जमीन लोगों की दिलचस्पी का कारण बनी हुई है। असल में यह चार एकड़ की जमीन स्पंज के जैसे है, जिस पर उछलने से आस-पास की जमीन में भी कंपन पैदा होता है। ठीक उसी तरह जैसे एक गद्दे पर उछलने से महसूस होता है। 1997 में जबलपुर में आए भूकंप की वजह से यह जगह बनी।

Why do stones murmur and people jump here1Image Source: https://i.ytimg.com

टिनटिनी पत्थर-
इस पत्थर को मारने से टनटनाहट जैसी आवाज निकलती है। इसलिए इसको टिनटिनी पत्थर कहते हैं। यह अंबिकापुर से करीब 10 किलोमीटर दूर दरिमा हवाई पट्टी के पास है। इस पत्थर पर मारने से वैसी आवाज आती है जैसे घंटियों में होती है। कुछ लोग इसको दूसरे गृह का पत्थर मानते हैं।

Tin-tini StoneImage Source: http://surguja.gov.in/

आवाज की वजह-
इस पत्थर में मैटलिक कंटेंट के रूप में आयरन और निकल ज्यादा हो सकता है। भूविज्ञानियों के मुताबिक इसी वजह से इससे म्यूजिकल साउंड आता है। यहां के पत्थर में मैटलिक कंटेंट बहुत हाई हो सकता है। मैटलिक कंपोजिशन कुछ इस तरह का हो सकता है कि ये छिद्रयुक्त हो, जिससे आवाज पैदा होती है। साइंटिस्ट और एक्सपर्ट्स का मानना है कि यह उल्कापिंड हो सकता है। इस पत्थर के कैमिकल की जांच सहित दूसरे एनालिसिस जरूरी हैं, जो अब तक नहीं हुए हैं।

प्राचीन गुफा और अंधी मछलियां-
छत्तीसगढ़ की सीक्रेट जगहों में आपको एक ऐसी जगह भी मिलेगी जहां मछलियां अंधी होती हैं। यह जगह जगदलपुर से 30 किलोमीटर दूर कांगेर वैली नेशनल पार्क में है। यहां पर एक गुफा है जिसको कुटुमसर गुफा कहा जाता है जिसका स्थानीय भाषा में अर्थ होता है पानी से घिरा किला। कुछ लोगों का मानना है कि ईसा से 4-6 हजार साल पहले यहां आदि मानव रहा करते थे।

Why do stones murmur and people jump hereImage Source: http://img1.holidayiq.com/

धाराओं में बटती नदी-
इन्द्रावती नामक नदी सात टुकड़ों में बट कर बहती है। यह जगदलपुर से करीब 70 किलोमीटर दूर वारसूर के पास बहती है। इन सब धाराओं के रंग अलग-अलग दिखते हैं। बारिश में सात धाराओं का नजारा साफ दिखता है। सभी धाराएं अंत में आपस में मिलकर पानी का रंग नीला कर देती हैं।

Why do stones murmur and people jump here2Image Source: https://upload.wikimedia.org
To Top