मिस डेफ वर्ल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला विदिशा बालियान ने रच दिया इतिहास

मिस डेफ वर्ल्ड

यह बात सच है कि यदि किसी चीज की दिल से चाह हो, तो पूरी कायनात उसे ​तुमसे मिलाने में लग जाती है। ऐसा ही कुछ 21 साल की विदिशा बालियान के साथ हुआ है। उत्तर प्रदेश की रहने वाली विदिशा ने इस साल का मिस डेफ वर्ल्ड 2019 का खिताब अपने नाम करके एक मुकाम हासिल किया है। मिस डेफ वर्ल्ड 2019 का ये ब्यूटी कॉन्टेस्ट दक्षिण अफ्रीका के बोमबेला में हुआ था। ये पहली ऐसी भारतीय महिला हैं जिन्होंने ये ब्यूटी पेजेंट का खिताब जीतकर अपने नाम किया है। ।

मिस डेफ वर्ल्ड 2019 की हुई इस स्पर्धा के फाइनल राउंड में 16 देशों की 11 फाइनलिस्ट्स ने भाग लिया था। विदिशा के बाद दूसरे नंबर पर दक्षिण अफ्रीका की एक प्रतियोगी रहीं। 21 साल की विदिशा बधिर हैं उनकी सुनने की क्षमता बेहद कम हैं। लेकिन उन्होनें अपने शरीर की इस कमी को कमजोरी नही बनाया। बल्कि यह साबित कर दिखाया है। यदि खुद में कुछ करने का जज्बा हो, तो, कोई काम नामुमकिन नही हो सकता। उन्होंने कई तस्वीरें इंस्टाग्राम पर शेयर की हैं। जिसमें एक तस्वीर के कैप्शन में लिखा कि इस टाइटल को जीतना सपना सच होने जैसा है।

मिस डेफ वर्ल्ड

बैसे तो विदिशा मुजफ्फरनगर से हैं लेकिन उनका परिवार गाजियाबाद में रहता है। विदिशा डेफओलम्पिक्स में इंटरनेशनल टेनिस खिलाड़ी के तौर पर भी भारत का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। पीठ में चोट लग जाने के कारण उन्होंने टेनिस को अलविदा करने का फैसला लिया और ब्यूटी पैजेंट में हिस्सा लेने के बारें में सोचा। विदिशा ने इंस्टाग्राम पर अपनी एक तस्वीर शेयर की जिसमें वे ये प्रतियोगिता जीतने के बाद काफी इमोशनल नजर आईं।

मिस डेफ वर्ल्ड

यहां हम बता दें कि, बधिर लोगों के लिए बनी इस प्रतियोगिता की शुरूआत साल 2001 में हुई थी। जिसका पहला ब्यूटी पेजेंट 2001 में स्पेन में हुआ था और इसे यूक्रेन की विक्टोरिया प्रायतचेंको ने जीता था। यह पहला मौका है कि इस प्रतियोगिता को किसी भारतीय महिला ने जीता है।

To Top