_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/12/","Post":"http://wahgazab.com/know-about-the-amazing-cow-which-requires-4-men-to-collect-milk/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/know-about-the-amazing-cow-which-requires-4-men-to-collect-milk/know-about-the-amazing-cow-which-requires-4-men-to-collect-milk-1/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

आज का इतिहास- आजाद हिंद फौज ने भारत में प्रवेश किया

18 मार्च का दिन भारत के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। आज के ही दिन सन् 1944 में नेताजी सुभाषचंद्र बोस के नेतृत्व में आजाद हिंद फौज ने बर्मा की सीमा को पार कर भारत में प्रवेश किया था। जब इंडियन नेशनल कांग्रेस भारत छोड़ो आंदोलन को शान्तिपूर्ण ढंग से चला रही थी उसी समय एक दूसरे स्थान पर विदेशी शासकों के विरुद्ध युद्ध की तैयारी की जा रही थी। इसके लिए सुभाषचन्द्र बोस ने आजाद हिन्द फौज की स्थापना की थी।

truth-bose1iImage Source :http://www.mourningtheancient.com/

आजाद हिन्द फौज ने भारत के स्वतन्त्रता आंदोलन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है। उनका विश्वास था कि अगर अन्य देशों की सहायता मिलेगी तो भारत को अंग्रेजों के शासन से मुक्त किया जा सकता है। यही उनकी कूटनीति थी। उन्होंने बर्लिन में आज़ाद हिंद केन्द्र की स्थापना की। उनका यह कार्य उनकी पूर्व एशिया में भावी महान उपलब्धियों का पूर्वाभ्यास था।

भारत और विश्व के इतिहास में 18 मार्च को घटी कुछ महत्वपूर्ण घटनाएं-

1801- भारत में पहले आयुध निर्माण कारखाने की स्थापना हुई।

1940- इटली के तानाशाह बेनिटो मुसोलिनी ने इंग्लैंड और फ्रांस के खिलाफ जर्मनी का साथ दिया।

1944- नेताजी सुभाषचंद्र बोस के नेतृत्व में आजाद हिंद फौज ने बर्मा की सीमा को पार कर भारत में प्रवेश किया।

1966- इंडोनेशिया में जनरल सुहार्तो ने सरकार बनाई।

SutanSjahrirImage Source :http://4.bp.blogspot.com/

1971- पेरू में भूस्खलन से 200 लोग मरे।

1972- नयी दिल्ली में विश्व पुस्तक मेले का उद्घाटन हुआ।

1978- पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री जुल्फिकार अली भुट्टो को फांसी देने का फैसला हुआ।

1997- तुर्की में रूस का विमान दुर्घटनाग्रस्त होने से 50 लोग मरे।

 

Most Popular

To Top