आज का इतिहास- भारत ने अपना पहला टेस्ट क्रिकेट मैच खेला

खेल की बात की जाये तो क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसका खुमार सभी के सिर चढ़ कर बोलता है। भले ही खेल का प्रदर्शन खिलाड़ियों के द्वारा किया जाता है, पर देश की जनता की भावनायें उस मैदान पर खेले जाने वाले खेल से पूरी तरह जुड़ जाती हैं। साथ ही अपने देश की जीत को अपनी जीत मान पूरे जोश के साथ खुशी का प्रदर्शन करती हैं। जिसकी चमक हमें अपने ही देश में नहीं बल्कि सात समंदर पार दूसरे देशों में भी देखने को मिलती है। यह ऐसा खेल है जिसके द्वारा कई देशों के राजनैतिक संबंध भी स्थापित हो जाते हैं। यह सब तरह की दूरियों को मिटाकर लोगों को एक करने वाला खेल है। क्या आप जानना चाहते हैं कि इस खेल की शुरूआत कब, कैसे और कहां हुई तो आज हम आपको इस विषय में बताते हैं। इसके साथ ही बताते हैं आज ही के दिन भारत में हुए पहले टेस्ट मैच के बारे में, जो आपके सामान्य ज्ञान को बढ़ाने में मदद करेगा तो जानें क्रिकेट से जुड़ी कुछ रोचक बातें….

matchImage Source :https://pbs.twimg.com/

बताया जाता है कि क्रिकेट की शुरूआत 16वीं शताब्दी में वेस्टइण्डीज़ में हुई थी। यहां पर क्रिकेट के खेल को उच्च कोटि का दर्जा प्राप्त हुआ। पहला अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट 15 मार्च 1877 को ऑस्ट्रेलिया के मेलबोर्न में खेला गया था, जो दो प्रमुख देशों इंग्लैण्ड और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुआ। शुरूआती दौर में किसी ओवर को निर्धारित नहीं किया गया था। आज से ठीक 139 साल पहले खेले गए इस मैच में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध खड़ी इंग्लैण्ड टीम को 45 रन से हरा दिया गया था। यह पहला टेस्ट मैच 4 दिन तक खेला गया था।

भारत में क्रिकेट का इतिहास-

1932Image Source :http://www.indianetzone.com/

साल 1932 का वो खास दिन जब भारत ने क्रिकेट के क्षेत्र में अपना पहला कदम बढ़ाया। यह वो समय था जब हमारा देश इंग्लैण्ड के अधीन हुआ करता था। उस समय भारत ने अपना पहला मैच लार्ड्स में इंग्लैण्ड के खिलाफ ही खेला था। इस भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी सीके नायडू कर रहे थे। इस खेल के दो मुख्य पहलू थे। पहला कि देश जिसके अधीन था उसके विरुद्ध लड़कर अपने देश की जीत को हासिल करना और दूसरा इस मैच को खेलकर इंगलैंड को हराकर अपने देश की मजबूत टीम बनाना, पर अफसोस कि भारत को पहले मैच की इस सीरीज में इंग्लैण्ड से 158 रन से हार का सामना करना पड़ा। इस खेल की पहली पारी में भारत के कप्तान सी. के. नायडू के 40 रनों को सर्वोच्च स्कोर तैयार किया था और द्वितीय पारी में 51 रनों का स्कोर खड़ा कर अमर सिंह देश के पहले ऐसे खिलाड़ी बने जिन्होंने अर्धशतक बनाया।

इसके साथ ही लाला अमरनाथ जैसे खिलाड़ी ने भी अपना एक अलग रिकॉर्ड तैयार किया। 1934 में इंग्लैण्ड के खिलाफ खेले जाने पर मुंबई में पहला शतक बना कर वह देश के सबसे तेज खेलने वाले पहले खिलाड़ी बने।

To Top