_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/12/","Post":"http://wahgazab.com/one-of-the-top-5-south-indian-movie-that-earns-a-lot-of-fortune/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/?attachment_id=43757","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

15 वर्ष से गर्भवती इस महिला ने दिया “स्टोन बेबी” को जन्म, डॉक्टर भी रह गए हक्के-बक्के

prag pic

 

 

क्या कोई महिला किसी सामान्य बच्चे की जगह किसी “पत्थर के बच्चे” को जन्म दे सकती हैं, निश्चित ही नही। मगर यकीन मानिए ऐसा हुआ हैं। हालही में घटी यह घटना सभी को हैरान कर रही हैं। जी हां, आज हम आपको जिस घटना के बारे में बता रहें हैं वह अपने आप में हैरान करने वाली हैं। असल में हुआ यह था कि एक महिला पिछले 15 वर्ष से गर्भवती थी, पर उसको इस बात का पता ही नहीं था। अब जब उसने बच्चे को जन्म दिया तो डाक्टरों सहित आम लोग भी हैरान रह गए। दरअसल पैदा होने वाला बच्चा कोई सामान्य बच्चा न होकर “पत्थर का बच्चा” था। आइये अब आपको विस्तार से बताते हैं इस बारे में।

07-stomach-pains-appendicitisimage source 

यह घटना महाराष्ट्र के नागपुर से सामने आई हैं। इस बारे में महिला के परिजनों ने बताया कि महिला को कभी कभी पेट में दर्द की शिकायत होती थी, पर वह उसको सामान्य दर्द समझ कर दवाई ले लेती थी। महिला के पेट में जब दर्द बढ़ गया तो वह नागपुर के डॉक्‍टर निलेश जुननकर के पास गए। डॉक्‍टर निलेश ने महिला का चैकअप कर उसका सीटी स्कैन कराया। जाँच में पता लगा कि महिला के पेट में कोई पत्थर जैसी वस्तु हैं।

सीटी स्कैन की रिपोर्ट देखने के बाद डॉक्टर ने लेप्रोस्‍कोपी टेस्ट कराया तो महिला के पेट में “पत्थर के बच्चे” के बारे में पता लगा। इसके बाद डॉक्टर नीलेश ने महिला का ऑपरेशन किया तथा उसके पेट से बच्चे को बाहर निकाला। मेडिकल क्षेत्र में ऐसे केस को “स्टोन बेबी” कहा जाता हैं। आपको बता दें कि महिला की शादी 1999 में हुई थी और सन 2000 में इसने अपने पहले बच्चे को जन्म दिया था। 2002 जब वह फिर से गर्भवती हुई तो उसने अबॉर्शन करा दिया।

1_555_113017043610image source 

डाक्टरों का कहना हैं कि अबॉर्शन शायद अच्छे से नहीं हो पाया था और इसलिए बच्चे का कुछ हिस्सा महिला के पेट में ही रह गया था जो कि समय के साथ पलता रहा। इस प्रकार अब ऑपरेशन कर महिला के पेट में मौजूद उस बचे हुए टुकड़े को निकाल दिया हैं जोकि सख्त होकर किसी पत्थर के जैसा हो गया था।

Most Popular

To Top