25 साल की कैद के बाद निर्दोष निकला मुजरिम, अदालत ने दिया 1 करोड़ का मुआवजा

अदालत

अगर आपको बिना किसी जुर्म के 25 साल तक जेल की कैद बितानी पड़े तो। सोच कर ही डर लगता है कि बिना किसी गलती के हम सजा क्यों भुगते और वो भी पूरे 25 साल की। हाल ही में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमे ऐसा ही कुछ हुआ है। यह मामला अमेरिका के राज्य पेंसेलवेनिया के शहर फिलोडेल्फिया का है। यहां की अदालत में बीते सप्ताह एक ऐसा फैसला सुनाया गया जो अपने आप में एक रिकॉर्ड बन गया। दरअसल कोर्ट में एंथनी राइट नाम के एक शख्स के केस पर सुनवाई चल रही थी। इस व्यक्ति पर साल 1991 में बलात्कार और हत्या का मामला दर्ज हुआ था। जिस पर कोर्ट ने इसे गैर जमानती उम्र कैद की सजा सुनाई थी। मगर अब डीएनए रिपोर्ट से यह साबित हुआ कि राइट बेकसूर है।

अब मिलेगा भारी मुआवजा –

अब मिलेगा भारी मुआवजा Image source:

डीएनए की रिपोर्ट जब कोर्ट में पेश की गई तो कोर्ट ने फौरन राइट को जेल से रिहा किया और साथ ही अपनी गलती मानते हुए राइट को बड़ी मुआवजा राशि देने का आदेश भी दिया। इस मुआवजे की राशि 1 करोड़ रुपए तय की गई। हालांकि राइट के लिए यह मुआवजा राशि कितना मायने रखती है ये वही जाने, क्योंकि इस केस ने उनसे उनकी जिन्दगी के बहुत कीमती 25 साल छीन लिए। आपको बता दें कि राइट अकेले नही है जो दोबारा जांच में निर्दोष पाए गए है। इससे पहले भी कई लोगों के साथ ऐसा हो चुका है।

पहले भी कई निर्दोष भुगत चकें हैं सजा –

पहले भी कई निर्दोष भुगत चकें हैं सजाImage source:

दरअसल राइट के साथ जो हुआ वह कोई पहली बार नही हुआ बल्कि इससे पहले भी कई लोग बेगुनाह होने के बावजुद सजा काट चुके हैं। इसका खुलासा इनोसेंस प्रोजेक्ट नामक एक संगठन ने किया है। उनके मुताबिक पुलिस केस की जांच में कोताही बरतती है, जिसका खामियाजा निर्दोष लोगों को जेल में सजा काट कर भुगतना पड़ता है। यह भी कहा जा रहा है कि राइट को अपना जुर्म कबूल करने के लिए मारा पीटा व धमकाया गया था। संगठन की रिपोर्ट में अनुसार राइट इस तरह की सजा काटने वाले 344 वें शख्ह हैं।

To Top