_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/12/","Post":"http://wahgazab.com/one-of-the-top-5-south-indian-movie-that-earns-a-lot-of-fortune/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/?attachment_id=43757","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

इस कुत्ते ने दी हैं वफादारी की मिसाल, मालिक की मौत के बाद भी 3 साल तक करता रहा इंतजार

कुत्ते

 

कुत्ते को दुनिया का सबसे अधिक वफादार जानवर माना जाता हैं। आज हम आपको एक ऐसे ही वफादार कुत्ते की सच्ची स्टोरी बताने जा रहें हैं जो तीन वर्ष तक लगातार अपने मालिक का इन्तजार करता रहा। इस खबर को सुनकर आप इसकी वफादारी के कायल जरूर हो जायेगे। आपको बता दें कि यह घटना दक्षिण कोरिया के बुसान शहर की हैं। असल में कुछ समय पहले एक बुजुर्ग महिला सड़क से एक कुत्ते के बच्चे को अपने घर लाई थी। उस महिला ने उसे अपने घर में पाल लिया और उसका नाम “फू शी” रखा।

कुत्तेImage Source:

इस कुत्ते और मालकिन का एक साथ काफी अच्छा समय गुजरा। एक दिन महिला को ब्रेन हेम्ब्रेज हो गया और महिला को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मृत्यु हो गई। लेकिन यह बात कुत्ते को कहां पता थी इसलिए उसने अपनी मालकिन का इन्तजार किया लेकिन वह नहीं आई। इसके बाद कुत्ता रोज सड़कों पर अपनी मालकिन को ढूंढने के लिए घूमता और शाम को आकर घर के दरवाजे पर बैठ जाता। यह सब लगातार 3 वर्षों तक चला।

एक दिन लवारिस पशुओं को पकड़ने वाले विभाग ने कुत्ते को पकड़ लिया और उसको अपने साथ ले गए। डाक्टरों ने इसकी जांच की तब पता लगा कि इसके पेट में कीड़े हो चुके थे। इसके बाद उसका इलाज शुरू हुआ और जल्द ही वह सही हो गया। अब जब इसकी यह स्टोरी सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो इसकी वफादारी की कहानी को जानकार एक परिवार ने इसको अडॉप्ट कर लिया और अपने साथ घर ले गया हैं।

Most Popular

To Top