इस लाइब्रेरी को चला रहें हैं गधे, बच्चे पढ़कर बढ़ रहे हैं आगे

लाइब्रेरी

गधे को मूर्खता का प्रतीक माना जाता है लेकिन एक ऐसा स्थान भी है। जहां पर गधे बच्चों को ज्ञान का पाठ पढ़ा रहें हैं। आज हम आपको इस खास स्थान के बारे में ही बता रहें हैं। इस स्थान की सबसे बड़ी खासियत है यहां की लाइब्रेरी। असल में इस लाइब्रेरी को गधे चला रहें हैं यही कारण है कि लोगों में यह खासी चर्चा का विषय बन चुकी है। यह लाइब्रेरी कोलंबिया में चल रही है और बच्चों को पढ़ाने में बहुत बड़े मार्गदर्शक के तौर पर काम कर रही है। इसको “सेरोनियो” नामक एक व्यक्ति चलाते हैं। इनकी इस लाइब्रेरी को खोलने की घटना काफी दिलचस्प है। आइये जानते हैं इस बारे में।

सेरोनियो ने शुरू की थी गधा लाइब्रेरी –

सेरोनियो ने शुरू की थी गधा लाइब्रेरी Image source:

सेरोनियो ने स्पेनिश लिटरेचर में डिग्री लेकर अपनी पढ़ाई पूरी की और वे एक स्कूल में टीचर बन गए, जिस स्थान पर वह टीचर नियुक्त हुए। उस स्थान के लोगों के पास बच्चों को पढ़ाने के लिए किताबे खरीदने को पैसे नहीं थे। किसान काफी गरीब थे और इलाका ऐसा था की गाड़ी से उस क्षेत्र में घुमा नहीं जा सकता है। तब सेरोनियो ने गधा लाइब्रेरी चलाने की सोची। उन्होंने इसके लिए 2 गधों को खरीदा तथा उन पर किताबे रखी। वे अब बच्चों को उनके घर जाकर पढ़ाने लगें। इस प्रकार से 2 गधों तथा 70 किताबों के साथ 10 वर्ष पहले इस गधा लाइब्रेरी की शुरुआत हुई थी। वर्तमान समय में बढ़ते विकास के साथ सेरोनियो ने इस इलाके में एक पक्की लाइब्रेरी बनवा दी है परंतु उनके द्वारा 10 वर्ष पहले शुरू की गई गधा लाइब्रेरी आज भी चालू है।

गधा लाइब्रेरी अब हो चुकी है बहुत प्रसिद्ध –

गधा लाइब्रेरी अब हो चुकी है बहुत प्रसिद्ध -Image source:

सेरोनियो की गधा लाइब्रेरी अब बहुत प्रसिद्ध हो चुकी है। लोग उनकों दूर दूर तक पहचानते हैं। वे अब गधों पर 150 किताबे लेकर चलते हैं और पक्की लाइब्रेरी में सजाते हैं। सेरोनियो अब बच्चों को साथ लेकर उनको किताबों से कहानियां सुनाते हैं तथा पढ़ाते हैं। उनकी इस लाइब्रेरी में चिल्ड्रन एडवेंचर स्टोरी की किताबे सबसे प्रसिद्ध है। इन किताबों को बच्चे बहुत शौंक से पढ़ा जाता हैं। एक बार जब सेरोनियो गधों पर किताबे लेकर बच्चों के पास जा रहे थे तो उनका एक्सीडेंट भी हो गया था लेकिन जल्दी ही ठीक होने के बाद वे फिर से अपने काम पर लग गए। इस प्रकार से देखा जाए तो लोगों द्वारा मुर्ख माना जाने वाला जानवर आज बच्चों को शिक्षित करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

To Top