अनोखी बीमारी से परेशान इस बच्ची का शरीर बनता जा रहा है पेड़ की तरह

0
448
Mandatory Credit: Photo by Suvra Kanti Das/ZUMA Wire/REX/Shutterstock (8960435h) Dhaka, Bangladesh - Muktamoni, a 12-year-old girl from Satkhira, lies on hospital bed at Dhaka Medical College Hospital (DMCH), Dhaka, Bangladesh, July 13, 2017. Muktamoni is suffering from symptoms similar to the 'tree-man disease'. The 12-year-old girl, daughter of a grocery shop owner Ibrahim Hossain of Kamarbaisa village in Sadar upazila, has been passing her days in great suffering due to lack of proper treatment. She always feels unbearable pain in the affected hand that is infested with parasitic worms. Doctors said the rare disease has spread through the entire body of Mukta. She is losing weight but her right hand is becoming heavier. Bangladeshi Girl with Treeman Syndrome, Dhaka, Bangladesh - 13 Jul 2017

 

आपने बहुत से पेड़ देखे ही होंगे, पर क्या आपने किसी मानव को पेड़ बनते देखा है? यदि नहीं, तो आज हम आपको एक ऐसी बच्ची के बारे में बताने जा रहें हैं, जो अपनी अनोखी बीमारी की वजह से पेड़ की तरह बनती जा रही है। आपको हम बता दें कि इस बच्ची का नाम “मुक्तामोनी” है और यह बांग्लादेश की निवासी है। इस बच्ची को एक अनोखी बीमारी है जिसकी वजह से इस बच्ची के सीने का दायां हिस्सा प्रभावित हो चुका है और उसका कलर ब्राउन हो गया है। इस बीमारी के कारण इस बच्ची के सीने में असहनीय दर्द भी होता है। इसके अलावा इस बच्ची की बीमारी का असर इसके दाएं हाथ पर भी हो गया है और वह हाथ सूज चुका है। डॉक्टरों का कहना है कि यह बीमारी इस बच्ची के शरीर के उस हिस्से तक भी फैल चुकी है जो अभी बीमारी से प्रभावहीन है।

http://wahgazab.comimage source :

यह बच्ची वर्तमान में ढाका मेडिकल कॉलेज में भर्ती है और डॉक्टर यह पता लगाने की कोशिश कर रहें हैं कि यह “ट्रीमैन डिजीज” ही है या और कुछ। आपको हम बता दें कि इस बीमारी को मेडिकल जगत में “एपिडर्मोडिस्प्लेसिया वेरोसिफॉर्मिस” कहा जाता है। यह बीमारी भी उतनी ही कठिन ही है। इस बीमारी में शरीर का प्रभावित हिस्सा किसी पेड़ की तरह से हो जाता है। आपको हम बता दें कि बांग्लादेश से जनवरी में पिछले वर्ष ही इस बीमारी से ग्रस्त ट्री मैन की खबर आई थी और यह प्रभावित व्यक्ति था “अबुल बजंदर”, जिसका शरीर किसी पेड़ की तरह बनता जा रहा था। बांग्लादेश के ही रिपोन सरकेर नामक एक और लड़का मिला था, जिसके हाथ पैर किसी पेड़ के जैसे सख्त हो गए थे। हम आपको यह भी बता दें कि अभी तक इस बीमारी का कोई भी पूर्ण समाधान मेडिकल जगत में नहीं खोजा जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here