खतरनाक नरभक्षी – जिसे पसंद था बच्चों का दिल और जिगर

0
304

इंसान को सभ्य समाज का सामाजिक प्राणी माना जाता है लेकिन यदि उसका बर्ताव जानवरों वाला दिखने लगें तो वह प्राणी नहीं बल्कि पूरी तरह से ही जानवर में तब्दील होकर समाज के लिए हानिकारक बन जाता है। जिसका कारण या तो उसकी सनक होती है या कोई मजबूरी, हमारे देश के अलावा अन्य देशों में भी ऐसे कई उदाहरण देखने को मिले हैं जिसमें व्यक्ति ने कई ऐसे काम कर दिए है जो हैरान करने वाले होते हैं। इंसानों का मांस खाने वाले को नरभक्षी कहा जाता है। आज हम आपको एक ऐसे ही नरभक्षी के बारे में बताने जा रहें हैं जिसे पसंद हैं बच्चों का दिल और जिगर।

दुनिया का एक ऐसा अजीबो-गरीब म्यूजियम जो अपने अनोखेपन के लिए जाना जाता हैं। इस अनोखे म्यूजियम में थाईलैंड के सबसे पहले सीरियल किलर की ममी रखी हुई है। इसके खौफ से लोग अपने बच्चे को छिपा कर रखते थे क्योंकि वो बच्चों को चुराकर उनका दिल और लीवर निकालकर खा जाता था। बैंकॉक में स्थित इस म्यूजियम को म्यूजियम ऑफ डेथ के नाम से जाना जाता है। वैसे तो इसमें कई अनोखे लोगों की ममी रखी हुई है, लेकिन सी क्यूई की ममी काफी लोकप्रिय ममी मानी जाती है, क्योंकि इस इंसान ने सन् 1950 के समय में ना जानें कितने बच्चों की हत्या करके उनका लिवर और दिल निकालकर खाया था। इस इंसान की मौत हो जाने के बाद इसके शरीर को कांच से बनें बॉक्स के अंदर रखा गया है। जिसे देखने के लिये काफी लोग आते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here