_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/12/","Post":"http://wahgazab.com/consequences-for-working-overtime-got-serious-lost-job/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/consequences-for-working-overtime-got-serious-lost-job/consequences-for-working-overtime-got-serious-lost-job-cover/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

दुनिया का एकमात्र गांव, जिसकी आबादी रहती है जमीन के अंदर

आप कभी दिल्ली के पालिका मार्केट में तो गए ही होंगे असल में वो काफी फेमस है उसके फेमस होने का राज यह है कि वह जमीन के अंदर में बना हुआ है यानी यह मार्केट अंडरग्राउंड है, इसी प्रकार से एक ऐसा गांव भी है जो जमीन के नीचे बना हुआ है और वहां की सारी आबादी भी जमीन के नीचे अंदर ग्राउंड ही रहती है।

coober-pedy1Image Source:

कहां और कैसा है यह गांव –

coober-pedy2Image Source:

यह गांव दक्षिण ऑस्ट्रेलिया में है और इसका नाम ‘कूबर पेडी’ है। इस गांव की खासियत यह है कि यह एक अंडर ग्राउंड गांव है और यहां के सभी लोग भी अंडर ग्राउंड रहते है। यहां पर ओपल की कई खदाने हैं और लोग इन खदानों के अंदर ही रहते हैं। जानकारी के लिए बता दें कि ओपल एक कीमती स्टोन होता है जिसका रंग दूधिया होता है और यह कूबर पेडी नामक जगह पर ज्यादा पाया जाता है। ये खदानें बहार से देखने पर बहुत साधारण लगती हैं पर अंदर से ये किसी होटल से कम नहीं है। कूबर पेडी नामक इस स्थान पर 60 प्रतिशत लोग इन खदानों में ही अंडर ग्राउंड रहते हैं।

coober-pedy3Image Source:

कूबर पेडी नाम का यह एरिया काफी डेजर्ट है और गर्मी के मौसम में यहां का तापमान काफी ज्यादा हो जाता है। 1915 में यहां इस एरिया में माइनिंग का काम शुरू किया गया था। गर्मी से निजात पाने के लिए लोगों को इन खाली पड़ी माइंस में शिफ्ट कर दिया गया था ताकि इन लोगों को गर्मी से परेशानी का सामना न करना पढ़ें। कूबर पेडी की इन खली माइंस में रहने वाले लोगो न तो गर्मी में एसी की जरुरत पड़ती है और न ही सर्दी में हीटर की क्योंकि यहां का तापमान हर मौसम में सही बना रहता है। इन माइंस में बने घरों की संख्या लगभग 1500 के आसपास है। कई हॉलीवुड फिल्मों की शूटिंग भी यहां हुई है।

Most Popular

To Top