अल्बर्ट आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग के लिए चुनौती बना 10 साल का ध्रुव

0
581

हमारे भारत देश में निखरती प्रतिभाओं की कमी नहीं है। जहां एक से एक हुनरबाज कला-कौशल और बहुमुखी प्रतिभा का कौशल दिखाकर विदेशियों के लिए चुनौती बन उभरे हैं। इन्हीं में से एक है हमारे ही देश के प्रतिभाशाली बालक ध्रुव जो महज 10 साल की ही उम्र में दुनियाभर के मेधावी लोगों के लिए चुनौती बन सबके सामने आएं हैं।

Dhruv Talati1Image Source:

इन्होंने अभी हाल ही में जुलाई 2016 में लंदन के मेंसा का केटल III बी का पेपर दिया था। इस इंटेलीजेंस टेस्ट में ध्रुव ने 162 का स्कोर पार कर अल्बर्ट आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग के रिकॉर्ड को भी पीछे छोड़ दिया है। इसमें ध्रुव का आइक्यू अल्बर्ट आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग के आइक्यू से 2 नंबर ज्यादा है। इतना बड़ा स्कोर पाकर अब ध्रुव दो महान वैज्ञानिकों से आगे निकल गए हैं।

बार्किंगसाइड में फुलुवड प्राइमरी स्कूल में पढ़ने वाले धुव्र के लिए यह टेस्ट कठिन नहीं था, पर समय की कमी के चलते उन्हें थोड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। मेंसा दुनिया की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी हाई-आईक्यू टेस्ट करने वाली सोसाइटी है। जिसमें वयस्क लोगों को 161 और 18 साल से कम उम्र के बच्चों को 162 का बड़ा स्कोर पार करना जरूरी होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here