_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/05/","Post":"http://wahgazab.com/special-tips-of-beetle-nut-to-resolve-your-problems/","Page":"http://wahgazab.com/addd/","Attachment":"http://wahgazab.com/water-growing-in-this-tree-in-place-of-fruits-and-flowers/water-tree1/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/28118/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=154","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

आईपीएल-9 के सनराइजर्स बने सुल्तान, कोहली के शेरों को पस्त कर जीता खिताब

जैसा की सभी जानते हैं की आईपीएल-9 की ट्रॉफी पर हैदराबाद सनराइजर्स ने अपना कब्जा जमा लिया है। बेंगलुरू के चिन्नास्वामी स्टेडियम में सनराइजर्स हैदराबाद और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू के बीच यह महामुकाबला खेला गया था। पहली बार फाइनल खेल रही हैदराबाद सनराइजर्स यानी की वॉर्नर की सेना ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला करते हुए 208 रन बनाए थे और विराट की रॉयल चैलेंजर्स बैंगलौर के धूरंधरों को 209 का लक्ष्य दिया था लेकिन विराट के धुरंधर 7 विकेट पर 200 रन बनाकर ही सिमट गए और महज 8 रनों के कारण उन्होंने खिताब को गंवा दिया। आईपीएल के फाइनल का ये सबसे बड़ा स्कोर था।

l_virat-1464578073Image Source :http://images.patrika.com/

आपको जानकर हैरानी होगी कि बेंगलुरू की टीम ने हार का ये स्वाद तीसरी बार भी चख लिया है। जबकि हैदराबाद सनराइजर्स पहली बार फाइनल में उतरी थी और पहली बार में ही उसने जीत के झंडे गाड़ दिए। विराट की टीम से क्रिस गेल ने सबसे अधिक 38 गेदों पर 76 रन बनाए जबकि विराट ने खुद 35 गंदों में 54 रन बनाए। लेकिन उनकी ये शानदार पारियां जीत के लिए काफी नहीं रहीं।

357364-srh-boult-clb-700Image Source :http://s3.india.com/

इस पूरे टुर्नामेंट में सबसे ज्यादा 973 रन जैसा की आप जानते हैं विराट ने ही बनाए हैं। हालांकि वह 1000 रन बनाने से चूक गये लेकिन वह इतने भी सिर्फ इस वजह से बना पाए क्योंकि वह ओपनिंग कर रहे थे। अगर वह तीसरे या चौथे बल्लेबाज होते तो शायद इतने भी नहीं बना पाते। वह अपनी फॉर्म से काफी खुश भी है लेकिन इस हार के बाद से वह काफी मायूस हो गये हैं। हार के बाद विराट ने कहा कि सनराइजर्स की गेंदबाजी काफी मजबूत थी। जब एबी डिविलियर्स और वह खुद बल्लेबाजी कर रहे थे तो उन्हें उम्मीद थी कि उनकी टीम जीत जाएगी, लेकिन दोनों के जल्दी आउट होने की वजह से टीम लक्ष्य का पीछा करने से चूक गई।

 

Most Popular

To Top