_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/02/","Post":"http://wahgazab.com/this-holi-night-perform-these-remedies-to-get-over-all-your-troubles/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/this-holi-night-perform-these-remedies-to-get-over-all-your-troubles/wah-4-pic-1/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/38edcdf172ca4efbca56add1f895924c/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

पीएम मोदी ने आबूधाबी में किया हिंदू मंदिर का शिलान्यास, 2020 तक पूर्ण होगा निमार्णकार्य

पीएम मोदी

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा प्रथम हिन्दू मंदिर का शिलान्यास किया गया। यह एक एतिहासिक क्षण था जिसके गवाह वहां रहने वाले भारतीयो सहित सभी देशों के नागरिक बने। आपको बता दें कि वर्तमान में आबूधाबी में करीब 30 लाख भारतीय निवास करते हैं। 2015 में नरेंद्र मोदी ने यहां पहली बार यात्रा की थी और उस समय ही आबू धाबी में उनको मंदिर बनाने के लिए स्थान दिया गया था। अब 2018 में जब पीएम मोदी यहां पहुचें तो मंदिर समिति के लोगों ने उनको मंदिर से जुड़ा साहित्य दिया था। 11-2-2018 रविवार के दिन पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रे़ंसिंग के जरिये इस मंदिर का उद्घाटन किया जो आबू धाबी का प्रथम विशाल हिंदू मंदिर होगा।

पीएम मोदीImage source:

इस बारे में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने अपने ट्विटर पर यह जानकारी सांझा करते हुए लिखा “दुबई-अबू धाबी राजमार्ग पर बनने वाला ये मंदिर अबू धाबी का पहला हिंदू मंदिर होगा, जिसे राजस्थान में पाए जाने वाले पिंक स्टोन से बनाया जाएगा।”

पीएम मोदीImage source:

UAE में भारत के राजदूत नवदीप सिंह सूरी ने भी अपने इंटरव्यू में इस बारे में बताते हुए कहा कि “अबू धाबी में प्रथम हिंदू मंदिर 55000 वर्ग मीटर भूमि पर बनेगा, जिसका शिलान्यास आज रखा गया है।”

पीएम मोदीImage source:

दुबई में इस मंदिर के निर्माण को बहुत लोग परंपरा का प्रौद्योगिकी से परस्पर मिलान बता रहें हैं। लोगों का मानना है कि भारतीय परंपरा व प्रौद्योगिकी का UAE के साथ मिलकर किया जा रहा है इस मंदिर निर्माण एक सक्रात्मक कार्य है। आपको बता दें कि इस मंदिर को भारतीय ही निर्मित कर रहें हैं।

पीएम मोदीImage source:

मंदिर में उपयोग होने वाला पत्थर राजस्थान से लाया जायेगा तथा शिल्पकला के बाद उसको आबू धाबी भेजा जायेगा। 2020 तक यह मंदिर पूरा हो जायेगा। देखा जाएं तो पीएम मोदी का यह दौरा UAE तथा भारत के लिए एक सकारात्मक पहल है जिससे भविष्य में दोनों देश एक दूसरे के कार्यों में मदद कर विकास के पथ पर बढ़ेंगे।

Most Popular

To Top