देश एक इस गांव में शराब पीने पर जुर्माने के रूप में लिया जाता है महज एक नारियल

शराब

 

आज के समय में शराब पीना आम बात हो चुकी है। अपने देश में लोग काफी बड़ी संख्या में इसका सेवन करते हैं। किसी ट्रिप पर निकलना हो या कोई पार्टी करनी हो लोग अपने साथ शराब की बोतल लेकर ही निकलते हैं हालांकि खुलेआम शराब का सेवन निषेध है और ऐसा करने पर जुर्माना लगाया जाता है। जुर्माने के तौर पर लोगों को काफी पैसे भरने पड़ते हैं लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की अपने देश में एक ऐसा स्थान भी है जहां शराब पीने या बनाने पर जुर्माने के रूप में मात्र एक नारियल ही लिया जाता है। आज हम आपको देश एक ऐसे ही स्थान के बारे में बता रहें हैं। आइये इस स्थान के बारे में विस्तार से जानते हैं।

शराब पीने के जुर्माने के रूप में नारियल लेने वाला यह गांव छत्तीसगढ़ के जिला कोरबा में स्थित है। इस गांव में नारियल को जुर्माने के रूप में देने की एक परम्परा चली आ रही है। जहाँ पर अगर कोई शख्स शराब पीता पकड़ा जाता है तो यहां पंचायत लगती है। पंचायत के लोगों का कहना है कि जुर्माने के रूप में नारियल देना हालांकि आसान ही है पर असल में मसला गुनाह करने वाले का पंचायत में आकर शर्मिंदा होने का है। यदि ऐसा कोई व्यक्ति दोबारा से इस प्रकार का कार्य करता है तो उसकी शिकायत पंचायत की ओर से पुलिस में की जाती है।

शराबImage Source:

इस गांव के सरपंच “शनिचरण मिंज” का कहना है कि “गांव में चावल की शराब काफी प्रचलित है और लोग सुबह से ही इसका सेवन करना शुरू कर देते हैं। अब बच्चे भी इसका सेवन करने लगे हैं इसलिए यह नया नियम बनाया गया है। जिसके तहत शराब पीने वाले को जुर्माने के रूप में एक नारियल देना होता है। नारियल पंचायत में देने के पीछे शराब पीने वाले व्यक्ति का शर्मिंदा होना ही इस नियम की असल वजह है। आगे सरपंच कहते हैं कि इस गांव में एक समुदाय के द्वारा कच्ची शराब बनाना तथा पीना एक परंपरा बन चुका था इसलिए सरपंच के कहने पर रक्षाबंधन पर लोगों ने शराब बैन करने की शपथ ली तथा इस बात को शुभ मानते हुए जुर्माने के तौर पर नारियल देने की शर्त राखी गई।

To Top