फेसबुक पर “आई लव यू” लिखने पर करा दी जाएगी शादी

फेसबुक एक ऐसा माध्यम है जहां कोई भी व्यक्ति अपने मन के विचारों को दुनिया के सामने रख सकता है, पर हालही में एक सूचना ने सभी लोगों को चकित कर दिया है, जिसके अनुसार फेसबुक पर यदि कोई व्यक्ति किसी अन्य लड़की को “आई लव यू” लिखेगा तो उसकी शादी उस लड़की के साथ करा दी जाएगी। जी हां, यह सही बात है और यह घोषणा की है “हिन्दू महासभा” ने, महासभा के अनुसार वेलेंटाइन डे के दिन यदि लड़का-लड़की सार्वजानिक रूप से अपने प्रेम का इजहार करते हैं तो उनकी जबरन शादी करा दी जाएगी। इस बात का यह अर्थ नहीं है कि आप वेलेंटाइन डे के दिन फेसबुक पर अपने प्रेम का सार्वजानिक रूप से इजहार कर देंगे तो बच जाएंगे, ऐसा करने वालों के लिए भी हिन्दू महासभा ने अपनी नीति स्पष्ट करते हुए कहा है कि “उनके सभी कार्यकर्ता सोशल-नेटवर्किंग वेबसाइट्स पर अपनी नजर रखेंगे और इसमें ‘लव यू’ पोस्‍ट करने वालों को पकड़कर उनकी शादी करवाएंगे।” यानि यदि आप फेसबुक पर भी किसी लड़की से अपने प्रेम का इजहार करते हैं या कोई लड़की अपने प्रेम का इजहार आपसे फेसबुक के माध्यम से करती है, तो महासभा के लोग आप दोनों की जबरन शादी करा देंगे।

i-love-you-on-facebook1Image Source:

इस बारे में हिंदी महासभा के राष्‍ट्रीय अध्यक्ष चंद्र प्रकाश कौशिक ने बताया कि “सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए महासभा ने दिल्ली में आठ टीमें गठित की हैं। इसके अलावा अन्य शहरों में भी टीमें बनाई गई हैं और उनकी टीमें मॉल, पार्क और अन्य स्थानों पर ऐसे जोड़ों की तलाश करेगी जो सार्वजनिक तरीके से प्रेम का इजहार कर रहें होंगे। हिन्दू जोड़ों की तत्‍काल आर्य समाज में शादी करवा दी जाएगी, वहीं दूसरे धर्मों से जुड़े कपल्स का पहले शुद्धिकरण किया जाएगा। इसके अलावा हाथों में गुलाब लिए सार्वजनिक जगहों पर प्रेम का प्रदर्शन करने वाले उनके पहले शिकार होंगे। हालांकि, अब नए फरमान से लगता है कि सोशल मीडिया भी उनके रडार पर होगी।” असल में बात इतनी है कि हिन्दू महासभा नामक यह संस्था वेलेंटाइन डे को भारतीय परम्पराओं के खिलाफ मानती है और इसी कारण यह संस्था यह नहीं चाहती है कि भारतीय युवाओं का जीवन इस प्रकार के तथाकथित प्रेम में ही खत्म हो जाए, इसलिए संस्था के अनुसार इस प्रकार की परंपराएं भारत में बैन होनी चाहिए, जिनके कारण हमारी युवा शक्ति खोखली होती जा रही है। खैर, देखने वाली बात यह है कि नियमों, कायदों कानूनों को टाक पर रखकर इस देश के कितने लोग हिन्दू महासभा के साथ खड़े होते हैं।

To Top