गरीब दिखने वाली बूढ़ी महिला ने दान किए सात लाख डॉलर

0
385

आज हर कोई पैसे के पीछे भाग रहा है। इंसानियत दिखाना तो दूर की बात है। पैसे की बात आते ही लोग अपने, अपनों को ही पहचानने से मना कर देते हैं। ऐसे समाज में बड़े-बड़े अमीर किसी की मदद नहीं करते, लेकिन सर्बिया में रहने वाली एक वृद्ध महिला ने कुछ ऐसा किया है, जो सभी के लिए एक मिसाल है। यह वृद्ध महिला खुद एक झोपडी में रहती हैं। जब इस महिला को पता लगा कि उसके पति ने मरने से पहले उसके नाम 7 लाख ऑस्ट्रेलियाई डॉलर किए हैं तो उसने यह सारी रकम दान कर दी।

आज-हर-कोई-पैसे-के-पीछे-भाग-रहा-Image Source :http://img.punjabkesari.in/

जानकारी के अनुसार इस वृद्ध महिला का नाम मारिजा जेलाटिक है। मरिजा की उम्र 86 साल है। वह पूर्वी सर्बिया के पर्वतीय भाग में एक मिट्टी की झोपड़ी में अकेली रहती हैं। काफी सालों से वह अपने पति से अलग रह रही थीं। साल 2011 में मारिजा ने अपने पड़ोसियों को उसके पति के बारे में पता लगाने को कहा। जिसके बाद मरिजा को पता चला कि उसके पति की मृत्यु हो चुकी है और मरने से पहले उसके पति ने अपनी वसीयत से 7 लाख ऑस्ट्रेलियाई डॉलर उसके नाम कर दिए थे।

जानकारी-के-अनुसार-इस-वृद्ध-महिला-का-नाम-मारिजा-जेलाटिकImage Source :http://img.punjabkesari.in/

इतनी बड़ी रकम मिलने के बाद भी मारिजा को पैसे का कोई मोह नहीं रहा। मारिजा ने कहा कि अब इस उम्र में उसे पैसों की कोई जरूरत नहीं है। उसके गुज़ारे के लिए लकड़ी, ब्रेड और पानी ही काफी है। उसने बताया कि उसका अब सारा ध्यान उसके पड़ोसी ही रखते हैं। इसलिए उसने अपने पति के द्वारा दिए गए सारे पैसे अपने पड़ोसियों को ही दान कर दिए हैं।

मारिजा ने अपने पति के बारे में बताया कि 1956 में उसके पति मॉमसिलो सर्बिया से पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया काम के सिलसिले में चले गए थे। वहां वह एक कारखाने में कारपेंटर का काम किया करते थे। मारिजा भी अपने पति के साथ ऑस्ट्रेलिया गई थी, लेकिन कुछ समय बाद वह अपनी मां की देखरेख के लिए सर्बिया वापस आ गई। जिसके बाद वह फिर कभी भी दोबारा ऑस्ट्रेलिया वापस नहीं जा पाईं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here