_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2018/04/","Post":"http://wahgazab.com/people-got-confused-when-two-girls-conned-everyone-to-marry-each-other/","Page":"http://wahgazab.com/aadhaar/","Attachment":"http://wahgazab.com/these-marvelous-airports-of-the-world-beats-even-the-most-fancy-of-the-restaurants/hotel-cover/","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/37779/","Custom_css":"http://wahgazab.com/flex-mag/","Oembed_cache":"http://wahgazab.com/a58684c87aed349e5269bd367bca0a1a/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=38240","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

अब इस तरह से काम आएगी व्हिस्की

पेट्रोल-डीजल की मारामारी के कारण अब इनका दोहन बड़े पैमाने पर बढ़ चुका है। देश-दुनिया की पेट्रोल-डीजल पर से निर्भरता कम करने के लिए अक्षय ऊर्जा पर शोध होता रहता है। इसी कड़ी में एक ऐसी तकनीक तैयार की गई है जिससे आप ‘व्हिस्की ‘ से अपनी कार भी चला सकेंगे। असल में स्कॉटलैंड में वैज्ञानिकों ने ऐसी तकनीक खोज ली है जिससे व्हिस्की के अवशेषों को ईंधन के रूप में प्रयोग कर कार को चलाया जा सकेगा।

क्या है तकनीक-
इडनबर्ग की ‘सेल्टिक रिन्यूएबल्स’ ने इस तरह का पहला नमूना पेश किया है जिससे व्हिस्की के अवशेष से कार चलाई जा सकेगी। यह बायोफ्यूल ड्राफ से बनाया गया है। ड्राफ शक्कर के एक तरह के घोल से व्हिस्की बनाने के लिए तैयार किया जाता है। इस तरह जहां-जहां व्हिस्की का उत्पादन होता है, वहां से निकलने वाले अवशेष का उपयोग हो सकेगा और जल्द इससे कारें चल सकेंगी। ‘सेल्टिक रिन्यूएबल्स’ के फाउंडर मार्टिन टैंगने कहते हैं कि यह अडवांस तकनीक इस तरह की पिछली हर खोज को पीछे छोड़ देगी।

whisky car1Image Source: http://img.thesun.co.uk/

कंपनी को इस मिशन के लिए 11 मिलियन यूरो का फंड भी इनाम के रूप में मिला है। ट्रांसपोर्ट मंत्री ऐंड्रू जोंस ने कहा कि इससे हानिकारक गैसों के वातावरण से छुटकारा मिल सकेगा।

To Top