_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"wahgazab.com","urls":{"Home":"http://wahgazab.com","Category":"http://wahgazab.com/category/uncategorized/","Archive":"http://wahgazab.com/2017/04/","Post":"http://wahgazab.com/people-drink-filtered-water-through-corpses-here-at-this-place/","Page":"http://wahgazab.com/addd/","Attachment":"http://wahgazab.com/?attachment_id=37006","Nav_menu_item":"http://wahgazab.com/28118/","Wpcf7_contact_form":"http://wahgazab.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=154","Mt_pp":"http://wahgazab.com/?mt_pp=14714"}}_ap_ufee

पीएम मोदी का सांसदों को नॉन पॉल्यूशन ‘गिफ्ट’

दिल्ली में लगातार बढ़ रहा प्रदूषण दिन-पर-दिन चिंता का विषय बनता जा रहा है। वहीं पॉल्यूशन को कम करने और पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा देने के उद्देश्य से पीएम मोदी ने एक बड़ी पहल की है। उन्होंने सांसदों को स्पेशल नॉन पॉल्यूशन ‘गिफ्ट’ दिया और इसे मेक इन इंडिया अभियान का नजराना बताया।

Image Source: https://twitter.com

पीएम मोदी की यह पहल वैसे तो इस मायने में अहम है कि प्रदूषण को कम करने की जिम्मेदारी में सांसद भी अपनी भूमिका अदा कर सकें। जिसके मद्देनजर पीएम मोदी ने सोमवार को सांसदों के लिए बैट्री वाली दो बसों को हरी झंडी दिखाई। हरी झंडी दिखाने के बाद दूसरे नेताओं के साथ खुद पीएम मोदी भी इस बस में बैठे और ट्रैवल किया। वहीं, परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का कहना है कि ऐसी गाड़ियां कॉमर्शियल इस्तेमाल के लिए भी बनाई जाएंगी और इनके पेटेंट भी रजिस्टर कराए जाएंगे।

उन्होंने बताया कि भविष्य में दिल्ली की सड़कों पर 15 ऐसी बसें चलाने की योजना है। यह एक पायलट प्रोजेक्ट होगा। आज से शुरू की गई इन बसों से ही सांसद अब संसद तक आया-जाया करेंगे। इसमें वही लीथियम आयन बैट्री लगी हैं जो इसरो सैटेलाइट प्रपल्शन में इस्तेमाल करता है। इसरो ने मंत्रालय के साथ मिलकर ऐसी पांच बैट्री बनाई हैं। एक बैट्री की कीमत पांच लाख रुपये है। यदि इसी को आयात करें तो यह 55 लाख रुपये की पड़ती है।
इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि पेरिस में संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने वाले देशों की ओर से कई महत्वपूर्ण पहल की गई है और भारत इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

Most Popular

To Top