गाय को इस मुस्लिम शख्स ने लिया गोद और समाज को दिया अहिंसा का संदेश

0
539
गाय

 

गाय के नाम पर अभी तक हिंसा के कई मामले देखने में आये हैं, ऐसे में एक मुस्लिम शख्स ने गाय को हिंदू रीति रिवाजों के साथ अपने घर लाकर समाज को एक नया संदेश दिया है। वर्तमान समय एक ओर गौ हत्या और गौ रक्षकों को लेकर विवाद का दौर चल रहा है, तो दूसरी ओर गाय के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए सरकार की तरफ से कई योजनाएं भी चलाई जा रही हैं। इन दोनों ही मामलों के बीच एक मुस्लिम शख्स ने पहल कर समाज को नया संदेश दिया है।

यह खबर महाराष्ट्र के मुंबई से आई है। यहां के निवासी “सरोस खान” नामक एक शख्स ने एक गाय तथा एक बछड़े को गोद लिया है तथा हिंदू रीति रिवाजों के तहत उनका ग्रह प्रवेश भी कराया है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सरोस खान मुंबई के विज्ञान नगर में रहते हैं और वे एक फिल्म मेकर हैं। सरोस खान ने कई हिंदी और राजस्थानी फिल्मों में अभिनय भी किया है। सरोस ने जिस गाय के बछड़े को अपने घर में प्रवेश कराया है, उसको उन्होंने 50 हजार में खरीदा है। सरोस के घर पर गाय का प्रवेश जगद्गुरू रामानन्दाचार्य राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय के असिस्टेंट प्रोफेसर, शास्त्री कोसलेन्द्रदास ने हिंदू रीति रिवाज के अनुसार कराया है। कोसलेन्द्रदास शास्त्री ने इस बारे में कहा कि मैंने कई हिंदू घरों में गाय का गृह प्रवेश कराया है, पर यह पहला मामला है जब किसी मुस्लिम घर में ऐसा समारोह हुआ है। सरोस खान ने इस कार्य के पीछे समाज को नया संदेश दिया है। वह कहते हैं कि आज समाज में गाय के नाम पर हिंसा चल रही है, इसलिए ही मैंने गाय को गोद लेकर समाज को यह संदेश दिया है और लोगों को बताया है कि मुस्लिम लोग भी गाय को प्रेम करते हैं। आगे सरोस कहते हैं कि मेरी यह पहल यदि गाय के नाम पर होने वाली हिंसा को खत्म करने में योगदान देती है तब ही मैं संतुष्ट समझुंगा।

गाय

Image Source:

इस प्रकार से सरोस खान ने समाज को एक सकारात्मक संदेश देने कि एक नई पहल की है और यह सही भी है, जब की हम लोग गाय को मां का दर्जा देते हैं, तब सड़क पर वह आखिर क्यों वह कचरा खाती अपनी जिंदगी बसर करने को मजबूर है, आखिर हम लोग उसको क्यों नहीं अपनाते और ऐसे कौन से कारण हैं जो हमें गाय को पूरी तरह से अपनाने पर मजबूर करते हैं, यह सोचने का विषय है। सोचिये और अपने विचार हमें दीजिये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here