8 साल के प्यार को पाने के लिए भूख हड़ताल पर बैठ गया युवक, हालत बिगड़ते ही गर्लफ्रेंड ने कर ली शादी

धरना

धरने की बात हो, और केजरीवाल जी का नाम ना आये, ये कैसे हो सकता है। क्योकि केजरीवाल जी से लेकर नेतागण,और  छात्रों संघ के लोग ही क्यो ना हो। अपनी मांगों को लेकर ‘हाय-हाय’ के नारे लगाते हुए धरने पर बैठ जाते है। इसलिये आज के समय में यह धरना जैसा शब्द एक टैग साइन बन चुका है

पर क्या आप जानते है कि अब धरने का उपयोग लोग अपने प्यार को पाने के लिये भी करने लगे है। जी हा ये सच कर देने वाली घटना पश्चिम बंगाल की है जहां एक प्रेमी ने अपने 8 साल के प्यार को पाने के लिये प्रेमिका के घर के सामने धरने पर बैठकर अपनी अवाज उठाई।

बताया जाता है कि अनंता बर्मन जो लिपिका नामक लड़की के साथ करीब 8 सालों से रिलेशनशिप में था। लेकिन अचानक लिपिका ने अनंता से दूरी बनाते हुये बोलचाल बंद कर दी। यहां तक की अनंत के साथ जुड़ें फोन कॉल, व्हाट्सएप और अन्य सोशल मीडिया से भी संपर्क तोड़ दिया। लिपिका से किसी भी प्रकार का संपर्क ना होने के कारण अनंत ने लीपिका की खोजबीन शुरू कर दी। पता करने पर अनंता को खबर लगी कि लिपिका के घरवाले उसकी शादी किसी और से करने की सोच रहे हैं और इसके लिये लड़का भी देख रहे हैं।

धरना

अनंत के पास अब लिपिका को पाने के लिए समय बहुत कम ही बचा है, इसलिए उसने अपने प्यार को पाने के लिए उसके ही घर के सामने भूख हड़ताल के साथ धरने पर बैठ गया। और साथ में एक तख्ती पर भी लिख दिया ‘मेरे आठ साल वापस कर दो’। देखते ही देखते लोगों की साहानुभूति भी अनंत को मिलने लगी। और सभी ने उसका ही साथ देना शुरू कर दिया। इस बीच लिपिका से शादी करने वाले लड़के का परिवार और पुलिस भी धरना स्थल पर पहुंच गई,और उन्होनें अनंत को समझाने की भी भरपूर कोशिश की। लेकिन वो भी अनंत को अपना प्यार वापस पाने के लिए भूख हड़ताड को ना रोक सके। लेकिन, जैसे-जैसे समय के साथ घंटे बीतने लगें। अनंत की हालत बिगड़ने लगी। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया।  अनंत के बिगड़ती हालत को देखकर आखिरकार प्रेमिका उससे शादी करने के लिये राजी हो गई। और स्थानीय लोगों के हस्तक्षेप के बाद दोनों के परिवार वाले भी इस शादी के लिए सहमत हो गए। परिवार के राजी होते ही दोनों ने एक पास के मंदिर में सभी रस्मों को पूरा करते हुए शादी कर ली। अब पूरे बंगाल में अनंत-लिपिका के लवस्टोरी चर्चा एक विषय बन चुकी है।

To Top