फांसी से पहले अपराधी से आखरी बार क्या बोलता है जल्लाद, जानें यहां

फांसी

आप यह तो जानते ही होंगे की अपराधी को फांसी जल्लाद ही देता है लेकिन क्या आप जानते हैं की फांसी देने से पहले अपराधी के कान में जल्लाद क्या कहता है। शायद आप इस बात को नहीं जानते होंगे। आपने फिल्मों में कई बार फांसी देने का सीन देखा होगा लेकिन हो सकता है की जल्लाद द्वारा अपराधी के कान में कुछ कहना आपने टीवी पर न देखा हो। लेकिन वास्तव में ऐसा होता है। जब किसी अपराधी को फांसी की सजा होती है तो सजा देने के कुछ क्षण पहले जल्लाद अपराधी के कान में कुछ शब्द बोलता है। आज हम आपको इस बारे में ही जानकारी दे रहें हैं की वे शब्द आखिर क्या होते हैं।

महज 2 जल्लाद है भारत सरकार के पास –

महज 2 जल्लाद है भारत सरकार के पास Image source:

सबसे पहले हम आपको बता दें की हमारे देश में फांसी देने के कुछ नियम और कायदे बनाये गए हैं। इनमें फांसी का समय, फंदा तैयार करने का समय तथा फांसी की प्रक्रिया जैसी चीजें शामिल हैं। अपने देश में जब किसी को फांसी दी जाती है तो सजा के आखरी चरण से पहले जल्लाद अपराधी के कान में कुछ शब्द कहता है। इसके बाद ही फांसी का आखरी चरण पूरा किया जाता है। ऐसे में लोगों के मन में यह सवाल उठना लाजमी है ही की आखिर जल्लाद अपराधी के कान में क्या कहता है। आपको यह भी बता दें की वर्तमान समय में भारत सरकार के पास मात्र 2 जल्लाद हैं। जो अपराधी लोगों को फांसी देने का कार्य करते हैं। इन लोगों को सरकार द्वारा सैलरी भी दी जाती है। यदि फांसी की सजा किसी सामान्य व्यक्ति को दी जाती है तो इनको 3 हजार रुपये सरकार की और से दिए जाते हैं। वहीं यदि अपराधी कोई आतंकी हो तो यह रकम बढ़ा दी जाती है। पूर्व पीएम इंदिरा गांधी के हत्यारों को फांसी देने वाले जल्लाद को उस समय 25 हजार रुपये दिए गए थे। आइये अब आपको बता दें की फांसी देने से पहले जल्लाद अपराधी के कान में क्या कहता है।

अपराधी से माफ़ी मांगता है जल्लाद –

अपराधी से माफ़ी मांगता है जल्लादImage source:

आपको जानकर हैरानी होगी की जल्लाद फांसी देने से पहले अपराधी से माफ़ी मांगता है। जल्लाद अपराधी के कान में कहता है की “भाई मुझे माफ़ कर देना। मैं सरकार के आधीन हूं इसलिए मैं कुछ नहीं कर सकता हूं।” यदि अपराधी मुस्लिम होता है तो जल्लाद उसको “आखरी सलाम” कहता है और यदि हिंदू है तो उसको “राम राम” कहता है। बस इतना कहने के बाद में जल्लाद फांसी का लीवर खींच देता है। आपको बता दें की फांसी से जुड़ी एक रोचक बात यह है की भारत में जितने भी अपराधियों को फांसी की सजा होती है उनके लिए फांसी का फंदा बिहार प्रदेश की बक्सर जेल में हिह तैयार किया जाता है। यह काफी सस्ता होता है तथा इसकी मोटाई के लिए भी सरकार द्वारा मानक तैयार किये हुए हैं।

To Top